महाराष्‍ट्र राज्‍य में 1849 हथकरघे तथा 3418 हथकरघा बुनकर

0
12
वस्त्र मंत्रालय में राज्‍य मंत्री श्रीमती पनबाका लक्ष्‍मी ने आज राज्‍य सभा में एक प्रश्‍न के लिखित उत्‍तर में बताया कि हथकरघा संगणना 2009-10 के अनुसार महाराष्‍ट्र राज्‍य में 1849 हथकरघे तथा 3418 हथकरघा बुनकर हैं। महाराष्‍ट्र सरकार ने यह सूचित किया है कि महाराष्‍ट्र में हथकरघा बुनकर ऋणग्रस्‍त और गरीबी से पीडित नहीं हैं। भारत सरकार महाराष्‍ट्र राज्‍य सहित समूचे देश में हथकरघा क्षेत्र के समग्र विकास और हथकरघा बुनकरों के कल्‍याण के लिए निम्‍नलिखित योजनाएं कार्यान्वित कर रही हैं:-1. एकीकृत हथकरघा विकास योजना में 300-500 हथकरघों के एक क्‍लस्‍टर अथवा 10-100 बुनकरों के एक ग्रुप को आवश्‍यकता पर आधारित निविष्टियों (इनपुट) की व्‍यवन्‍नथा है ताकि उनको मार्जिन धन, नए करघों तथा अतिरिक्‍त पुर्जे, कौशल उन्‍नयन, विपणन के अवसर और वर्कशेड के निर्माण इत्‍यादि के लिए वित्‍तीय सहायता प्रदान करके उन्‍हें स्‍व-संपोषणीय बनाया जा सके। अब तक महाराष्‍ट्र राज्‍य के लिए सात क्‍लस्‍टर परियोजनाएं और 54 ग्रुप अप्रोच परियोजनाएं स्‍वीकृत की गईं हैं।2. हथकरघा बुनकर व्‍यापक कल्‍याण योजना में दो पृथक योजनाएं अर्थात हथकरघा बुनकरों को स्‍वास्‍थ्‍य बीमा प्रदान करने हेतु स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना तथा प्राकृतिक/दुर्घटनात्‍मक मृत्‍यु, दुर्घटना के कारण पूर्ण/आंशिक विकलांगता के मामले में जीवन बीमा सुरक्षा मुहैया कराने हेतु महात्‍मा गांधी बुनकर बीमा योजना हैं। स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना के अंतर्गत दिसम्‍बर से नवम्‍बर, 2010-11 तक की नीति अवधि के लिए 1527 बुनकरों का पंजीयन किया गया है। महात्‍मा गांधी बुनकर बीमा योजना के अंतर्गत महाराष्‍ट्र राज्‍य में 2011-12 के दौरान 1086 बुनकरों का पंजीयन किया गया है। 
साथ ही सरकार की ओर से विपणन एवं निर्यात संवर्द्धन योजना, मिल गेट कीमत योजना, विविधीकृत हथकरघा विकास योजना आदि भी चलाई जा रही है। इसके अलावा महाराष्‍ट्र राज्‍य सरकार ने प्राथमिक हथकरघा बुनकर सोसाइटी के लिए 50 प्रतिशत ऋण माफी योजना शुरू की है। इस योजना के तहत 622.45 लाख रुपये मंजूर किए गए हैं और राज्‍य में वर्ष 2010-11 के दौरान 457 प्राथमिक हथरकघा बुनकर सोसाइटियों को संवितरित किए गए हैं। 

LEAVE A REPLY