27 माओवादियों ने डाले हथियार

42

मुजफ्फरपुर : व्यवस्था के खिलाफ खूनी लड़ाई लड़नेवाले नक्सली संगठन के एरिया कमांडर सिमरी, दरभंगा निवासी बूलन पासवान समेत 27 हार्डकोर ने गुरुवार को जिला स्कूल प्रांगण में मुजफ्फरपुर जोनल पुलिस द्वारा आयोजित शैक्षिक व सांस्कृतिक समारोह के दौरान हथियार डाल दिए। एडीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय, पुलिस उप महानिरीक्षक सुशील खोपडे एवं वरीय पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार के समक्ष माओवादियों ने कभी न हिंसा करने की शपथ ली। साथ ही कहा कि अब वे उत्तार बिहार के सभी नक्सली साथियों को समाज से जुड़ने के लिए प्रेरित करेंगे। समय रहते भारी संख्या में माओवादियों को सरेंडर कराएंगे। उन्होंने कुल 18 आग्नेयास्त्र व भारी संख्या में कारतूस भी पुलिस को सौंपे। पुलिस को जो कुल 18 आग्नेयास्त्र सौंपे गए हैं, उनमें 06 रायफल, एक पाइप गन, 02 रिवाल्वर व 09 देसी तमंचे शामिल हैं।
समर्पण करनेवालों में मुजफ्फरपुर के रामअनेक सहनी, प्रमोद सहनी, बलिराम सहनी, कैलाश राय, शंभू चौधरी, नागेश्वर साह, वीरेन्द्र राय, कमलेश साह, नंदलाल महतो, नरेश साह, जगदेव सहनी, हर्षव‌र्द्धन पाठक, अरुण पासवान, सतन पासवान, मुकेश पासवान, शंकर पासवान, रंजीत कुमार साह, सुलोचन कुमार चौधरी, रामसिवेश सहनी, सीताराम बैठा, दरभंगा के सुशील कुमार ठाकुर, रामविलास दास, बूलन पासवान, डोमू साह, पूर्वी चम्पारण के शंभू पासवान दिनेश सहनी और सीतामढ़ी के मो. नसीरूल नद्दाफ शामिल हैं।
माओवादियों के समर्पण पर बोलते हुए एडीजीपी ने कहा कि नक्सलवाद दैत्य के रूप में उभरा है। व्यवस्था से जब कोई उब जाता है तो हथियार उठाता है। ये सभी हमारे भाई हैं। हमारे परिवार के हैं। ये समाज से भटके थे आज हमारे बीच लौटे हैं। हम इनका स्वागत करें। पुलिस अधिकारियों ने नक्सलवाद छोड़ समाज की मुख्यधारा में लौटे लोगों को भरोसा दिलाया कि उन्हें निर्धारित मानक के हिसाब से हर सुविधा दी जाएगी। वहीं एरिया कमांडर बूलन ने सरकारी व्यवस्था में अपनी आस्था जताते हुए कहा कि एडीजीपी की बातों पर भरोसा कर उन्होंने समर्पण किया है। पुलिस घर परिवार व समाज को देखें तो आगे भी भारी संख्या में समर्पण करा उत्तार बिहार में नए इतिहास की स्थापना करेंगे। हम यह सब नए समाज की स्थापना व अगले भविष्य को सुरक्षित करने के लिए कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here