कार बम विस्फोट, 29 की मौत

0
6
इराक में राजनीतिक संकट के बीच शिया बहुल इलाकों में हुए कई कार बम विस्फोटों में कम से कम 29 लोग मारे गए। इन विस्फोटों में से दो विस्फोट दो मिनट के अंतराल पर लोकप्रिय चिडि़या बाजार में हुए।
इन हमलों में 70 लोग घायल हो गए। हमलों में मुख्यत: उन बाजारों को निशाना बनाया जहां शुक्रवार के दिन देश में छुट्टी का दिन होने के चलते आमतौर पर भीड़भाड़ रहती है। सुरक्षा और चिकित्सकीय अधिकारियों ने बताया कि उत्तर बगदाद के कदिमियाह के एक चिडि़या बाजार में हुए दो बम विस्फोटों में कम से कम 16 लोग मारे गए और 43 अन्य घायल हो गए। दो कार बम विस्फोट बाजार में स्थानीय समयानुसार सुबह नौ बजे के बाद हुए जो कि शुक्रवार के दिन लोगों से भरा रहता है। आतंकवादी पूर्व में भी बगदाद के भीड़भाड़ वाले चिडि़या बाजार को निशाना बना चुके हैं।
एक फरवरी 2008 को भी शुक्रवार था और मध्य और पूर्वी बगदाद के ऐसे ही बाजारों में हुए दो बम विस्फोटों में 100 लोग मारे गए थे। उस समय इराक के एक शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ने कहा था कि विस्फोटक मानसिक रूप से विक्षिप्त दो महिलाओं के शरीर से बांधे गए थे और उनमें रिमोट कंट्रोल के जरिये विस्फोट किया गया। सुरक्षा एवं चिकित्सा अधिकारियों के अनुसार इराक की राजधानी बगदाद से दक्षिण शिया बहुल बबली प्रांत के शोमाली नगर में आज हुए दो कार विस्फोटों में दो लोग मारे गए और 26 अन्य घायल हो गए।
चिकित्साकर्मियों ने बताया कि पहला विस्फोट नगर के बाहरी इलाके मैं हुआ जबकि दूसरा विस्फोट एक बाजार में हुआ। मारे गए लोगों में महिलाएं एवं बच्चे शामिल हैं। इराक में सुन्नी आतंकवादी अक्सर शिया इलाकों को घातक हमलों से निशाना बनाते हैं। देश में ये बम विस्फोट अशांति को बढ़ाने वाले हैं। हाल के सप्ताहों में देश में राजनीतिक संकट के बीच कार बम विस्फोट और आत्मघाती हमले हुए हैं। इसके साथ ही शिया प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी को पद से हटाने का आह्वान करते हुए सुन्नी बहुल इलाकों में रैलियां आयोजित हुई हैं।

LEAVE A REPLY