ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 4.36 लाख करोड़ के निवेश प्रस्तावों के साथ खत्म हुई समिट

0
10
इंदौर। शहर में पिछले दो दिनों से चल रही ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2014 शुक्रवार को 4 लाख करोड़ से ज्यादा के निवेश प्रस्तावों के साथ समाप्त हुई। सुबह 12.30 बजे से शुरू हुआ समापन सत्र दोपहर 2 बजे तक चला जिसमें मंच पर मुख्यमंत्री सहित प्रदेश व केंद्र के सात मंत्री मौजूद रहे। समापन अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के साथ थावरचंद गेहलोत भी अतिथियों की अगवानी के लिए मौजूद थे। केंद्रीय म ंत्रियों में सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, रसायन मंत्री अनंत कुमार, उद्योग राज्य मंत्री निर्मला सीतारमन और ऊर्जा, कोयला के स्वतंत्र प्रभार मंत्री पीयूष गोयल शामिल थे। इन लोगों के अलावा जेपी ग्रुप के चेयरमैन जयप्रकाश गौड़, जी ग्रुप के सुभाष चंन्द्रा और फिल्त निर्माता प्रकाश झा भी समापन समारोह में शामिल हुए। समापन समारोह ही शुरूआत सीआईआई के डीजी के उद्बोधन से हुई जिसमें उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री प्रदेश में निवेश के लिए अच्छा माहौल बनाया और इसके लिए उन्हें धन्यवाद। उन्होंने कहा कि इस समिट में भाग लेकर उन्हें बेहद खुशी हुई। उनके बाद प्रदेश के मुख्स सचिव एंटोनी डीसा ने समिट को संबोधित करते हुए समिट में विभिन्न सेक्टोरियल और कंट्री सेशन की जानकारी देते हुए बताया की इस समिट में 5 हजार से ज्यादा लोगों ने शिरकत की। उन्होंने बताया की इस समिट में 4.36 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव आए। समापन समाराह में शामिल होने आए फिल्म निर्माता प्रकाश झा ने सामारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के कार्यो से प्रभावित हैं। प्रदेश में बनाई अपनी फिल्मों को बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें प्रदेश सरकार से हमेशा सपोर्ट मिला है और इसके चलते वह आने वाले समय में भी अपनी फिल्मों की शूटिंग मध्यप्रदेश में ही करेंगे। समारोह में शामिल हुए एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन ने अपने संबोधन में कहा कि उनका समूह आने वाले समय में प्रदेश में पचास हजार करोड़ का निवेश करना चाहता है। यह निवेश 6 प्रोजेक्ट्स में किया जाएगा। जेपी ग्रुप के प्रमुख जयप्रकाश गौर ने भी समारोह को संबोधित किया और कहा कि उनका ग्रुप प्रदेश में 35 हजार करोड़ का निवेश करेगा साथ ही एक समाचार चैनल और अखबार लेकर आएगा। इसके अलावा वह रीवा को स्मार्ट सिटी बनाएगें। केन्द्रीय इस्पात मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने प्रदेश की तस्वीर बदल दी है और यह उन्हीं की कोशिशों का परिणाम है कि इतने सारे निवेशक प्रदेश में आ रहे हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि सेल प्रदेश में 15 हजार करोड़ का निवेश करेगी। साथ ही टिकमगढ़ में1 हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा। उन्होंने सभी उद्योगपतियों से कहा कि केन्द्र में मोदी और प्रदेश में मुख्यमंत्री के साथ मिलकर काम करें तभी जाकर मेक इन इंडिया और मेक इन एमपी का सपना साकार होगा। केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री निर्मला सितारमन ने अपने संबोधन में प्रदेश सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया के सपनों को इस समिट के जरिये साकार करने की दिशा में कदम बढ़ाया। समारोह में आए केन्द्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने भी प्रदेश सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश अब एक बीमार राज्य की बजाय प्रगतिशील राज्य है। प्रदेश में इतनी बिजली है की वह दूसरे प्रदेशों को दे सकता है। आने वाले समय में प्रदेश में तीन और नए प्रोजेक्ट जल्द पूरे हो जाएगें। केन्द्रीय पर्यावरण और सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़कर ने समारोह में प्रदेश सरकार की तारीफ की और कहा कि उनका मंत्रालय सभी राज्यों के साथ न्याय कर रहा है। पर्यवरण संरक्षण के साथ विकास की रफ्तार बनी रहे यही उनके मंत्रालय का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि हाल ही में इंदौर के पास एक बड़े उद्योग को अनुमति दी गई है। केन्द्रीय उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में अब सभी उद्योगों के लिए ओपन डोर पॉलिसी है। आज प्रदेश में कोई भी निवेश कर सकता है जिसका श्रेय मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को जाता है। 

LEAVE A REPLY