लाड़ली को लक्ष्मी बनाने के मांग रही थी 5 हजार

6
इंदौर। लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत प्रसूति के लिए 10 हजार रुपए की सहायता दिलाने के नाम पर पांच हजार की रिश्वत लेते आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को लोकायुक्त ने रंगेहाथों पकड़ लिया। शिकायतकर्ता राधेश्याम चौहान निवासी भील कॉलोनी मूसाखेड़ी ने बताया, 15 जनवरी को पत्नी संगीता ने बेटी को जन्म दिया था। लाड़ली लक्ष्मी योजना के बारे में पता लगने पर एक माह पहले प्रसूति सहायता राशि के लिए आंगनवाड़ी में फॉर्म भरा था। संगीता को यहां सहायिका के पद पर कार्यरत रिंकू तरोटिया ने प्रसूति को कई माह बीत जाने पर परेशानी होने की बात कही। शासन से मिलने वाली 10 हजार की सहायता राशि दिलाने के लिए 5 हजार रुपए मांगे। फोन पर रिकॉर्डिंग के बाद धरदबोचा संगीता ने यह बात पति को बताई। राधेश्याम बैट्री व्यापारी मंदार द्रोणकर की दुकान पर काम करता है। उन्होंने राधेश्याम को लोकायुक्त को शिकायत करने की सलाह ही। बुधवार सुबह राधेश्याम ने लोकायुक्त एसपी अरुण मिश्रा से शिकायत की। एसपी ने टीआई दिनेशचंद्र पटेल को जांच के निर्देश दिए। फोन पर बातचीत रिकॉर्ड करने के बाद टीआई की टीम ने भील कॉलोनी स्थित आंगनवाड़ी में रिंकू को रुपए लेते रंगेहाथों पकड़ा। उसे कार्रवाई के लिए आजाद नगर थाने लाए, जहां नोट पर लगे केमिकल के कारण पानी से हाथ धुलाने पर लाल हो गए। थाने पहुंचे दो युवकों ने इलाके की अन्य महिलाओं से भी चेक दिलाने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया। रिंकू ने इससे पहले कभी पैसे नहीं लेने और गलती होने की बात कही। वह टीम के सामने माफी मांगकर छोड़ देने की गुहार लगाती रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here