नीरव मोदी के खिलाफ कार्रवाई तेज

65

पीएनबी घोटाले मामले से जुड़े नीरव मोदी और मेहुल चौकसी पर लगातार कस रहा है शिकंजा। सीबीआई ने उनकी कंपनियों के कई अधिकारियों को किया गिरफ्तार, देश भर में उनके कई ठिकानों पर पड़ रहे हैं छापे।

पीएनबी घोटाला मामले में सीबीआई को अब तक बड़ी गिरफ्तारी हाथ लगी है। सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक में 11,384 करोड़ रूपये के घोटाले की जांच के सिलसिले में मामले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी की कंपनी के वित्तीय कामकाज को संभालने वाले वरिष्ठ कार्यपालक अधिकारी विपुल अंबानी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में यह पहली बड़ी गिरफ्तारी है।

प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी कार्रवाई में अब तक नीरव मोदी के देश के 75 ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन के जरिए 5800 करोड़ रुपये मूल्य के हीरे, सोने और अन्य कीमती जवाहरातों को जब्त किया है। उधर दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी के खिलाफ दर्ज मामले में जांच कर स्टेटस रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है।

पीएनबी घोटाले में जांच एजेंसियों की कार्रवाई जारी रहने के बीच बीजेपी अध्यक्ष ने कहा है कि सरकार ने इस मामले में सख्त कार्रवाई की है । कर्नाटक दौरे पर पहुंचे अमित शाह ने कहा कि अब तक 5000 करोड़ से ज्यादा मूल्य की संपत्ति जब्त की गयी है और इस मामले में विपक्ष के सारे आरोप बेबुनियाद हैं ।

वहीं सरकार ने भी इस मामले में विपक्ष के तमाम आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है ।सरकार का कहना है कि पिछली सरकार में गलत तरीके से लोन दिए गए जबकि इस सरकार ने कार्रवाई करके गलत चीजों को सामने लाने का काम किया है ।

पीएनबी घोटाले में जांच एजेंसियों की कार्रवाई मंगलवार को देश के कई राज्यों में जारी रही। सीबीआई ने मुंबई में नीरव मोदी ग्रुप की कंपनियों के कार्यालय पर भी छापे मारे। इनके चार कर्मचारियों से पूछताछ भी की गई।नीरव मोदी की कंपनी के 8 अधिकारियों से सीबीआई की टीम ने उसके मुंबई के अलीबाग फार्म हाउस बंगले पर पूछताछ की।

सीबीआई ने गीतांजलि ज्वेलर्स कंपनी के 10 अधिकारियों के साथ भी पूछताछ की। इस बीच प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी की 120 शेल कंपनियों का खुलासा किया है। वहीं सीबीआई ने नीरव मोदी धोखाधड़ी मामले में मुंबई में पंजाब नेशनल बैंक की ब्रैडी हाउस शाखा के तीन अधिकारियों को आज गिरफ्तार किया है।

इस बीच ईडी ने अपनी कार्रवाई में अब तक नीरव मोदी के देश के 75 ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन के जरिए 5800 करोड़ रुपये मूल्य के हीरे, सोने और अन्य कीमती जवाहरातों को जब्त किया है। ये मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है जहां नीरव मोदी के प्रत्यर्पण संबंधी याचिका पर बुधवार को सुनवाई होगी।