साधु बनकर चित्रकूट में फरारी काट रहा आतंकी समझौता ब्लास्ट का फरार

0
6

इंदौर। समझौता ब्लास्ट में फरार एक और आतंकी को एनआईए ने चित्रकुट से गिरफ्तार किया है। वह हातोद का रहने वाला है। एनआईए को उसकी पांच साल से तलाश थी। एजेंसी से बचने के लिए वह साधु बन गया था।  एनआईए ने सोमवार को हातोद के धनसिंह नामक युवक को भी पकड़ लिया। एनआईए उसकी समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट में तलाश कर रही थी। डीआईजी (एनआईए) मुकेश कुमार सिंह के मुताबिक धनसिंह की गिरफ्तारी आतंकी राजेंद्र उर्फ दशरथ चौधरी से मिली जानकारी पर हुई।
आरोपी दशरथ ने पूछताछ में धनसिंह के बारे में कई खुलासे किए हैं। उससे बताया कि धनसिंह साधु बनकर रह रहा है। टीम ने सोमवार को नयागांव (चित्रकुट) क्षेत्र में एक आश्रम पर छापा मारकर उसे पकड़ लिया। एजेंसी दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी काफी अहम मान रही है। उनसे रामजी कलसांगरा व संदीप डांगे के बारे में भी पूछताछ की जा रही है।
पंचकूलात्न समझौता ब्लास्ट मामले में उज्जैन से पकड़े गए आरोपी दशरथ चौधरी उर्फ राजेंद्र पहलवान ने कहा है, ‘हां मैने ही समझौता ब्लास्ट किया। देश पर मुस्लिमों का अत्याचार बढ़ रहा था इसलिए मैंने ऐसा कदम उठाया। उसे सोमवार को पंचकूला स्थित एनआईए कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट में आते समय दशरथ ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूल कर लिया। कोर्ट ने चौधरी को 12 दिन की रिमांड पर भेज दिया। जब वह कोर्ट से बाहर निकला तो बयान से पलट गया, कहा कि उस पर दबाव बनाया गया था।

LEAVE A REPLY