कला एवं संस्‍कृति के संवर्द्धन हेतु सांस्‍कृतिक कार्यक्रम

0
6
आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन और संस्‍कृति मंत्री कुमारी सैलजा ने राज्‍य सभा में आज एक प्रश्‍न के लिखित उत्‍तर में बताया कि क्षेत्रीय सांस्‍कृतिक केंद्रों (जेडसीसी) द्वारा पिछले तीन वर्षों और चालू वर्ष के दौरान आयोजित/आयोजित किए जाने वाले सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों में शामिल हैं-लोक तंरग, ऑक्‍टेव, प्रकृति, राष्‍ट्रीय रंगमंच उत्‍सव, ग्रीष्‍मकालीन बाल कार्यशाला, सार्क लोक साहित्‍य उत्‍सव, हम्‍पी उत्‍सव, वृहत टायफेड समारोह, दीव उत्‍सव, ‘लहर द वेव’ – राष्‍ट्रीय तटवर्ती कला उत्‍सव, द्वीप महोत्‍सव, अंतर्राष्‍ट्रीय बाल फिल्‍मोत्‍सव, सोनपुर मेला, गोल्‍डन बीच उत्‍सव, नारंगी शहर शिल्‍प मेला एवं लोक नृत्‍य उत्‍सव, लावणी महोत्‍सव, पिंपरी चिंचवाड़ उत्‍सव, परंपरा महोत्‍सव, क्षेत्रीय सांस्‍कृतिक केंद्रों के रजत जयंती समारोह, यात्राएं, प्रदर्शनी का आयोजन, कॉफी टेबल पुस्‍तक का प्रकाशन आदि।
      संबंधित क्षेत्रीय सांस्‍कृतिक केंद्र द्वारा सदस्‍य राज्‍यों/संघ राज्‍य क्षेत्रों में विभिन्‍न स्‍कीमों के कार्यान्‍वयन के लिए क्षेत्रीय सांस्‍कृतिक केंद्रों को निधियां जारी की जाती हैं। महाराष्‍ट्र राज्‍य, दक्षिण मध्‍य क्षेत्रीय सांस्‍कृतिक केंद्र (एससीजेडसीसी), नागपुर तथा पश्चिम क्षेत्र सांस्‍कृतिक केंद्र (डब्‍ल्‍यूजेडसीसी) उदयपुर का सदस्‍य राज्‍य है। पिछले तीन वर्षों और चालू वर्ष के दौरान महाराष्‍ट्र राज्‍य में सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन में एससीजेडसीसी और डब्‍ल्‍यूजेडसीसी द्वारा किया गया व्‍यय निम्‍नलिखित है:
                    (लाख रु. में)
क्र.सं.                    वर्ष                      राशि
1.                    2009-10                   92.062.                    2010-11                    213.873.                   2011-12                    231.48
4.                   2012-13                    17.40
उक्‍त कार्यक्रमों की आमतौर पर काफी प्रशंसा की गई।  

LEAVE A REPLY