वेस्टर्न बायपास पर पहाडि़यों को पार करने बनाने होंगे तीन पुल

0
11
ग्वालियर। स्पेशल एरिया डवलपमेंट अथॉरिटी (साडा) क्षेत्र में बनाए जा रहे वेस्टर्न बायपास में तीन पहाडि़यां और घाटी को पार करने तीन बड़े पुलों का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए सर्वेक्षण का प्रारंभिक कार्य शुरू किया जा चुका है। वेस्टर्न बाइपास मालीपुरा में प्रस्तावित एयरपोर्ट से होकर गुजरेगा। वेस्टर्न बायपास को सर्वेक्षण की अनुमति मिलने के बाद मंगलवार से कवायद प्रारंभ हो गई। सर्वे एजेंसी डिजाइन बियम स्टूडियो है। एजेंसी ने सर्वेक्षण के दौरान पाया है कि तिघरा से बरई के बीच सुजवाया और मालीपुरा में तीन विशेष घाटियां हैं। इनको पार करने के लिए विशेष पुल बनाए जाएंगे। सुरंग बनाने का प्रस्ताव खारिज कर दिया गया है। सुजवाया में प्रस्तावित विमानपत्तन (एयरपोर्ट) है। साडा क्षेत्र का सीमांकन पूरा किया जा चुका है। सर्वेक्षण की प्रक्रिया इसी हफ्ते पूरी की जानी है। एयरपोर्ट स्थल से होकर गुजरेगा वेस्टर्न बायपास वेस्टर्न बायपास 29 किलोमीटर का होगा। इसमें जंगल की भूमि भी पड़ेगी। जंगल महकमा ने सर्वेक्षण की अनुमति जारी कर दी थी। इसके बाद ही सर्वेक्षण की कवायद प्रारंभ की गई है। वेस्टर्न बाइपास का ये बेहद महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट साडा विकास के लिए ‘मास्टर की” माना जा रहा है। एबी रोड को शहर के बाहर से मुरैना मार्ग से शिवपुरी मार्ग तक पहुंचाने वाले इस प्रोजेक्ट के बन जाने से 48 किलोमीटर की दूरी 19 किलोमीटर कम हो जाएगी। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का समूचा ध्यान साडा क्षेत्र के प्रोजेक्ट्स पर लगा हुआ है। तकरीबन हर माह वे प्रोजेक्ट की समीक्षा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY