विशाखापत्तनम में हुदहुद ने दी दस्तक

0
7
विशाखापत्तनम| चक्रवात हुदहुद विशाखापट्टनम के करीब पहुंच
गया है।  चक्रवात की वजह से कई इलाकों में लैंडफॉल
होने की खबरें आ रही हैं।  हुदहुद तूफान की
वजह से आंध्र- ओडिशा में अब तक 6 लोगों की मौत हो चुकी
है।  विशाखापट्टनम में 190 किलोमीटर प्रति घंटे से
ज्यादा रफ्तार से हवा चल रही है। भारी बारिश की वजह से कई इलाकों में बिजली भी गुल
है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृहमंत्री
को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संपर्क में रहने के लिए कहा है।
अधिकारियों
ने बताया कि शनिवार शाम से हो रही भारी बारिश के कारण विशाखापत्तनम और इसके आसपास के
निचले इलाके में जलभराव हो गया है। लोगों को सुरक्षित स्थानों तक ले जाया गया है।
तेज
हवा के कारण पेड़ उखड़ गए,
जिससे यातायात बाधित हुई।
गाजुवाका औद्योगिक क्षेत्र सहित कई इलाके बिजली के तार टूट जाने के कारण अंधेरे में
डूब गए हैं।
भारत
मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की ओर से सुबह जारी किए गए बुलेटिन के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान विशाखापत्तनम
से दक्षिण-पूर्व में करीब 100 किलोमीटर दूर है। यह रविवार
दोपहर के करीब विशाखापत्तनम में प्रवेश करेगा।
उत्तर
तटीय आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम,
विजयनगरम और विशाखापत्तनम
जिले और पूर्वी व पश्चिमी गोदावरी जिले में प्रशासन हाई अलर्ट पर है। अब तक करीब चार
लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।
सरकार
ने इन जिलों के लोगों से घर के अंदर रहने या फिर किसी सुरक्षित स्थानों जैसे शरणार्थी
या राहत शिविरों में चले जाने को कहा है।
मौसम
विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि चक्रवात के प्रवेश करने के दौरान हवा की
रफ्तार 170-180 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी।
इसने आंध्र के पांच जिले और दक्षिणी ओडिशा में मूसलाधार बारिश की संभावना व्यक्त की
है।
ज़मीन
पर टकराने के बाद तूफ़ान उत्तर दिशा की ओर बढ़ेगा जिससे अगले 48 घंटों में दक्षिणी ओडिशा
के आठ ज़िलों,
छत्तीसगढ़ और तेलंगाना
में भारी बारिश हो सकती है।

इससे
ओडिशा की कई नदियों में बाढ़ की आशंका है।

LEAVE A REPLY