तमिलनाडु के नए मुख्यमंत्री होंगे ‘ओ पनीरसेल्वम’

49
एआईएडीएमके अध्यक्ष जे. जयललिता के बेहद करीबी ओ. पन्नीरसेलवम तमिलनाड़ु के नए मुख्यमंत्री होंगे। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को शनिवार को 66.65 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति के मामले में चार साल की सजा सुनाई गई थी, जिसके बाद उन्हें जेल जाना पड़ा था। इस फैसले के साथ ही जयललिता की मुख्यमंत्री की कुर्सी चली गई थी। रविवार को प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के लिए एआईएडीएमके के विधायकों की बैठक हुई, जिसमें पन्नीरसेलवम के नाम पर मुहर लगी। 
जेल में बंद अन्नाद्रमुक सुप्रीमो जे जयललिता के वकील उनकी जमानत के लिए कल कर्नाटक उच्च न्यायालय जायेंगे. जयललिता के वकील उन्हें दोषी ठहराये जाने और आय से अधिक संपत्ति के मामले में सजा सुनाने के आदेश पर रोक लगाने की मांग करने के संबंध में रणनीति को अंतिम रूप दे रहे हैं.
जयललिता के वकील बी कुमार ने कहा, ‘‘ हम कल कर्नाटक उच्च न्यायालय में जमानत की याचिका दायर करेंगे.’’ एक दिन पहले ही विशेष अदालत ने जयललिता को चार साल कारावास की सजा सुनाई थी, जिसके बाद उन्हें विधायक के रूप में आयोग्य बना दिया गया. बहरहाल, इस पर मंगलवार को सुनवाई हो सकती है, जब अवकाश पीठ का सुनवाई करने का कार्यक्रम है, क्योंकि उच्च न्यायालय 29 सितंबर से छह अक्तूबर तक छुट्टी पर रहेगी.
पिछले वर्ष उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में कहा था कि किसी भी सांसद या विधायक को दो वर्ष से अधिक की सजा सुनायी जाती है और दोषी करार दिया जाता है, तब वे स्वत: ही अयोग्य हो जायेंगे. इस फैसले से पूर्व जन प्रतिनिधित्व कानून की धारा 8:4 के तहत निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को अयोग्य ठहराये जाने से तब संरक्षण प्राप्त था, अगर वे उच्च अदालत में तीन महीने के भीतर अपील करते हैं. इसे उच्चतम न्यायालय ने निरस्त कर दिया.
जयललिता का पक्ष रखने वाले वकीलों ने कल विशेष अदालत के आदेश की प्रति हासिल कर ली है जिसमें उनपर 100 करोड रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है. इस मामले में जयललिता की सहयोगी शशिकला, उनकी रिश्तेदार वी एन सुधाकरण और इलावरसी को भी दोषी करार दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here