अनंत गीते अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं – उद्धव

0
7
मुंबई। शिवसेना-भाजपा गठबंधन टूटने के बाद उद्धव ठाकरे भाजपा के
साथ बिलकुल नाता नहीं रखना चाहते। शायद तभी अनंत गीते जो केंद्र सरकार में केंद्रीय
मंत्री पद संभाल रहे हैं। उन पर लगातार दबाल बनाए जाने जैसे संकेत मिल रहे हैं। उद्धव
ठाकरे ने मीडिया में कहा है कि केंद्रीय मंत्री अनंत गीते अपने पद से इस्तीफा दे सकते
हैं।
गठबंधन टूटने के बाद शिवसेना के उद्धव ठाकरे भाजपा के खिलाफ लगातार
स्पष्ट बयान दे रहे हैं। उद्धव ठाकरे इतने तीखे बयान दे रहे हैं कि इससे पहले भाजपा
को सीधे तौर पर कभी नहीं लताड़ा होगा। अब शिवसेना भाजपा से बिलकुल अलग होना चाह रही
है। अपने नेता गीते के लिए कहा है कि गीते अपने पद से कभी भी इस्तीफा दे सकते हैं।
राज ठाकरे में अपने समर्थकों से सवाल किया कि बीजेपी ने शि‍वसेना
के साथ जो किया है,
क्या इसके बाद भी उस पर
भरोसा किया जा सकता है?
रैली में राज ठाकरे ने
कहा कि उन्हें यह पहले से पता था कि बीजेपी शि‍वसेना से गठबंधन तोड़ने का फैसला ले
चुकी है। बीजेपी के एक नेता ने इस बाबत पहले ही जानकारी दे दी थी और कहा था कि उनकी
पार्टी बहुत पहले ही यह निर्णय ले चुकी थी।
मनसे प्रमुख ने गठबंधन टूटने के बाबत कहा कि शि‍वसेना प्रदेश में
बीजेपी से अलग है, लेकिन केंद्र में मंत्री पद अभी भी पार्टी
के पास है। जिस तरह बीजेपी ने व्यावहार किया है, शिवसेना
को बीएमसी में भी बीजेपी का साथ छोड़ देना चाहिए।

रैली को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने कहा कि प्रदेश को किसी के
मदद की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि हमें यहां किसी राष्ट्रीय पार्टी के दखल
की जरूरत नहीं है। महाराष्ट्र इतना ताकतवर है कि वह खुद अपना ख्याल रख सकता है। राज
ठाकरे ने कहा कि वह महाराष्ट्र के आत्मसम्मान की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
उन्होंने मतदाताओं से अपील की कि प्रदेश में मनसे को एक बार सेवा का मौका दिया जाए
और बीजेपी नीत युति और कांग्रेस नीत अघाड़ी गठबंधन को नजरअंदाज करें।

LEAVE A REPLY