अध्यापक बोले, बीमा है न पेंशन है, जीवनभर का टेंशन है

0
10
आलीराजपुर। भोपाल में अध्यापकों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध और शिक्षा विभाग में संविलियन की मांग का समर्थन करते हुए अध्यापक संयुक्त मोर्चा के बैनर तले शनिवार को जिले भर के अध्यापकों, सविंदा शिक्षकों ने रैली निकालकर कलेक्टर शेखर वर्मा को ज्ञापन सौंपा गया। रैली के आगे बैनर पोस्टर लेकर महिला अध्यापिका चला रही थीं। इस दौरान बीमा है न पेंशन है, जीवनभर का टेंशन आदि नारे लगाए गए। बीच में चले रहे माइक लगे वाहन के जरिये रैली का संचालन किया जा रहा था। रैली के कलेक्टोरेट पहुंचने पर जमकर नारेबाजी की गई। आंदोलन में साथ दें फतेह क्लब ग्राउंड पर हुई सभा को संबोधित करते हुए मोर्चे के राजेश आर वाघेला, सुनील दुबे, फिरोज सागर तिवारी ने सभी अध्यापकों से हड़ताल में शामिल होकर आंदोलन में साथ देने का आह्वान किया। इस अवसर पर शरद क्षीरसागर, लालसिंह डावर, राकेश खेड़े, महेंद्र गोयल, मेहताब भूरिया, गुलसिंह चौहान वर्षा वाघेला, जयश्री गेहलोद, हमीदा खान सहित सैकड़ों अध्यापक सविंदा शिक्षक, गुरुजी मौजूद थे। ये है ज्ञापन में मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर शेखर वर्मा को सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया, शिक्षा विभाग में संविलियन, समान कार्य समान वेतन तथा छठें वेतनमान का लाभ लेकर अध्यापकों द्वारा अनशन शुरू किया था, पर भोपाल पुलिस ने 17 सितंबर को लाठी चार्ज कर अध्यापकों को गिरफ्तारी किया गया, जो अध्यापकों की गरिमा के विपरित है। ज्ञापन में अध्यापकों, संविदा शिक्षकों की समस्याओं पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर मांगों को पूर्ण करने की मांग की गई। 

LEAVE A REPLY