ट्रेन मे ही चांद को दिया अर्ध्य

0
10
भोपाल।सोलह शृंगार कर पूजन की थाली लिए सुहागिन महिलाएं बेसब्री से चंद्रोदय का इंतजार कर रही थी। रात्रि 8 बजकर 35 मिनट के बाद जैसे ही चांद क्षितिज से बाहर आया वैसे ही चंद्र को अघ्र्य देकर पूजा अर्चना का सिलसिला शुरू हो गया। महिलाओं ने करवे से अघ्र्य देकर चांद की पूजा-अर्चना की। इसके बाद छलनी से पहले चांद को निहारा उसके बाद उसी छलनी से पतिदेव के दर्शन किए। तत्पश्चात पति के हाथों से अन्न जल ग्रहण किया। करवा चौथ के मौके पर राजधानी की सौभाग्यवती स्त्रयों ने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखा। सुबह सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत का संकल्प लिया। इस मौके पर घरों में भगवान गणेश, कार्तिकेय और चौथ माता की पूजा-अर्चना की। पूजन के साथ-साथ व्रतधारी महिलाओं ने सुहागिन महिलाओं को हल्दी कुमकुम लगाकर सुहाग की सामग्री भेट की तथा अखंड सौभाग्य के लिए आशीर्वाद मांगा। देर शाम से व्रतधारी महिलाएं चांद निकलने का इंतजार करती नजर आई। इस दौरान बार-बार छतों पर खड़े होकर महिलाएं आसमान की ओर देखती रही। होटलों में रही भीड़ करवा चौथ के चलते राजधानी की होटलों में शनिवार को आम दिनों के मुकाबले अधिक भीड़ रही। व्रत का पारायण करने के बाद पति पत्नी साथ-साथ होटल पहुंचे और भोजन किया। होटलों में देर रात तक रौनक दिखाई दी। कई होटलों में करवा चौथ के लिए स्पेशल थाली भी रखी गई थी। “शिव और साधना” मुख्यमंत्री निवास में साधना सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की लंबी आयु के लिए व्रत रखा था। उन्होंने चांद के दीदार के साथ पति का दीदार किया और उनके हाथों से पानी पीकर व्रत खोला। सीएम चौहान ने पत्नी को उपहार भी दिया। टे्रन में ही मना करवा चौथ तीर्थ दर्शन टे्रन में सफर कर रही महिलाओं ने टे्रन में ही करवा चौथ मनाया। दरअसल, दक्षिण से लौटकर शाम को हबीबगंज स्टेशन आई टे्रन को तीन घंटे तक सिग्नल नहीं मिला। चंद्रोउदय का वक्त हो जाने के कारण महिलाओं ने बोगी में ही पूजा-अर्चना की और चांद का दीदार कर व्रत खोला। यात्रियों ने बताया कि एक-एक कर रूटीन टे्रनों को निकाला जाने लगा और टे्रन तीन घंटे तक हबीबगंज स्टेशन पर खड़ी रही। इस दौरान यात्रियों को तीन घंटे तक परेशान होना पड़ा। टे्रन शाजापुर जा रही थी।

LEAVE A REPLY