वाड्रा के जमीन सौदों पर हंगामा

0
4
राबर्ट वाड्रा के जमीन खरीद-फरोख्त मामले पर हंगामा मच गया है. बीजेपी ने इस पूरे मामले की जांच कराने की मांग की है. इस मासले पर मंगलवार को संसद के दोनो सदनों में जबरदस्त हंगामा हुआ था. जिसके बाद सदन को स्थगित करना पड़ा था. माना जा रहा है कि विपक्ष इस मुद्दे को आज बुधवार को भी संसद में जोर शोर से उठाएगा.
फिहलहाल इस मामले में राबर्ट वाड्रा की ओर से कोई सफाई नहीं आई है. जबकि संसदाय कार्य राज्यमंत्री राजीव शुक्ला का कहना है कि राबर्ट वाड्रा की कंपनी ने डील में कोई गड़बड़ी नहीं की है. कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी भी राबर्ट वाड्रा के बचाव में सामने आ गई हैं. उनका कहना है कि किसी के व्यक्तिगत मामले को संसद में नहीं उठाना चाहिए.
क्या है पूरा मामला
ये पूरा मामला राबर्ट वाड्रा और उनकी कंपनी से जुड़ा हुआ है. वाड्रा ने फरीदाबाद जमीन के चार डील किए. पहली डील 8 सितंबर 2005 को 32 लाख रुपए में 12 एकड़ जमीन की हुई. दूसरी डील 14 अप्रैल 2006 को रॉबर्ट वाड्रा ने पाहवा से ही 30 लाख रुपये में और दस एकड़ जमीन खरीदी. तीसरी डील-13 जनवरी को वाड्रा ने हरबंस लाल पाहवा से ही अमीपुर गांव में 19 एकड़ और जमीन खरीदी. इस बार 54 लाख रुपये में और चौथी डील 28 अप्रैल 2006 को वाड्रा की पत्नी प्रियंका गांधी ने अमीपुर गांव में ही पाहवा से 5 एकड़ जमीन का सौदा 15 लाख रुपये में किया. ये ना सिर्फ लैंड सीलिंग एक्ट का उल्लंघन है बल्कि वाड्रा ने हरबंश लाल पहवा नाम के जिस शख्स से जमीन खरीदी थी उसी को काफी मुनाफे में बेच दी.
अब राजस्थान में भी जमीन का खेल
हरियाणा के बाद अब राजस्थान में भी वाड्रा के जमीन का खेल सामने आया है. यहां पर राबर्ड वाड्रा की कंपनी रीयल अर्थ के भी जमीन खरीद मामले में कई पेंच हैं. रॉबर्ट वाड्रा पर आरोप है कि राजस्थान के बीकानेर जिले में जमीन खरीदने के लिए उन्होंने कानून तोड़ा है. रॉबर्ट वाड्रा की जमीन खरीद का मसला इसलिए गंभीर सवाल उठाता है कि उनके लिए तो राजस्थान सरकार ने भूमि कानून तक बदल दिया. रॉबर्ट वाड्रा ने लैंड सीलिंग एक्ट में संशोधन से ठीक पहले सैकड़ों एकड़ जमीन खरीदी थी. लेकिन आजतक ने उन चार ऐसे लेन-देन के मामले को उजागर किए हैं, जिसमें 321.78 एकड़ जमीन खरीदी गई. जबकि कानून के मुताबिक सिर्फ 175 एकड़ जमीन ही खरीदी जा सकती थी. इसके अलावा जमीन खरीद के दो साल बाद ही इसी इलाके में राजस्थान सरकार ने सोलर प्रोजेक्ट शुरु करने का प्रस्ताव रखा. जिसके बाद यहां के जमीन की कीमत काफी बढ़ गई और वाड्रा की कंपनी ने काफी मुनाफा कमाया.

LEAVE A REPLY