आतंकी हाफिज ने दी भारत को तबाह करने की धमकी

45
नई दिल्ली। जमात उद दावा (जेयूडी) के आतंकी सरगना हाफिज सईद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी दी है कि अगर कश्मीर मुद्दें का हल नहीं निकाला तो वो हिंदुस्तान को तबाह कर देगा। उसने हिंदुस्तान के खिलाफ जिहाद की धमकी दी है। आतंकी हाफिज सईद 26/11 मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है। हाफिज भारत के खिलाफ जहर उगलता रहता है। 
यह बयान लाहौर के ऐतिहासिक स्मारक मीनार-ए-पाकिस्तान में सईद के संगठन का दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान दिया है, जिसमें आतंकी संगठन जमात उद दावा के समर्थकों ने हिस्सा लिया और जिस पर भारत ने अपना विरोध भी जताया है।
हाफिज सईद ने कहा, ‘सीधा होकर, फौरी तौर पर कश्मीर मुद्दे का मसला हल कर दे और अगर तू करने के लिए तैयार नहीं है तो फिर इसके बाद इंशा अल्लाह… कश्मीर दरवाजा होगा और कस्बा ए हिंद बर्बाद होगा। नवाज शरीफ तुम्हें मैं अल्लाह का हुक्म सुनाता हूं कि अगर मुजाकरात के लिए कश्मीर पर और यूनाइटेड नेशन की करारदातों पर मुजाकरात के लिए तैयार ना हो तो फिर जाकर तुम उनकी मदद के लिए खड़े हो जाओ। ये सीधा-सीधा रास्ता और तरीका है।’  हाफिज ने कहा पाकिस्तानी और कश्मीरी सगे भाई हैं और उन्हें अलग नहीं किया जा सकता।
चौंकाने वाली बात यह है कि हाफिज द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम का पाकिस्तान में जमकर प्रचार किया गया और इसे वहां की सरकार का समर्थन भी मिला था। पाकिस्तानी सरकार ने इस कार्यक्रम के लिए सुरक्षा मुहैया कराई और रैली में हिस्सा लेने वाले लोगों के लिए दो स्पेशल ट्रेनें भी चलाई गई।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरूद्दीन ने कहा, ‘जेयूडी के तथाकथित इश्तिमाह (सभा) में क्या हो रहा है? मेरा मानना है कि इसे आतंकवाद को मुख्य धारा में लाने से कम कुछ नहीं कहा जा सकता। यह समारोह पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्मारक में हुआ। इस समारोह में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे। समारोह का प्रचार पूरे पाकिस्तान में हुआ।’
उन्होंने कहा कि इस समारोह को एक ऐसे संगठन ने आयोजित किया, जिसे न केवल भारत बल्कि अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त राष्ट्र ने भी प्रतिबंधित किया है। इसे एक ऐसे व्यक्ति ने संबोधित किया जिसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने आतंकवादी घोषित किया हुआ है। अकबरुद्दीन ने कहा कि इस संगठन और समारोह के लिए रेलगाड़ी की सेवाएं मुहैया कराई गईं। यह आतंकवाद पर अंतरराष्ट्रीय प्रक्रिया के प्रति असम्मान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here