शहर की पहचान बनेगी कांवड़ यात्रा

0
6
करीब 11 हजार कांवडि़ए शामिल होंगे, प्रशासन व निगम की समिति के साथ बैठक….। जबलपुर . नर्मदा और पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने वाले भक्तों की संस्कार कांवड़ यात्रा पांचवें वर्ष में पहुंच गई है। गुरुवार को पुलिस कंट्रोल रूम में जिला प्रशासन द्वारा समिति की बैठक बुलाई गई। कांवड़ यात्रा में इस बार करीब 11 हजार कांवडि़ए शामिल होंगे। सभी एक कांवड़ में नर्मदा जल और एक पौधा लेकर शिव का अभिषेक करने कैलाशधाम पहाड़ी पर पहुंचेंगे। ग्वारीघाट से समापन स्थल कैलाशधाम तक हर चौराहे, तिराहे पर पुलिस मौजूद रहेगी। महापौर ने कहा कि कांवड़ यात्रा को शहर की पहचान बनाया जाएगा। बैठक में कलेक्टर एसएन रूपला, एसपी आशीष कुमार, महापौर स्वाति गोडबोले, समिति के शिव यादव, नीलेश रावल, विशाल तिवारी, जगत बहादुर सिंह अन्नू आदि शामिल हुए। ये रहेगी सुविधा कांवडि़यों को ग्वारीघाट तक पहुंचाने के लिए मेट्रो बसें मुफ्त में मुहैया कराई जाएंगी। ग्वारीघाट और कैलाशधाम में कंट्रोल रूम बनेंगे। – 150 से अधिक समितियों व संगठनों द्वारा स्वागत मंचों से फल, पानी, शरबत आदि का वितरण किया जाएगा। – 35 किमी लंबी यात्रा में 1500 से अधिक वालेंटियर रहेंगे। -कांवड़ यात्रा में एंबुलेंस, चलित शौचालय होगा।

LEAVE A REPLY