उद्धव ठाकरे ने कहा अजमेर दीवान को भारत रत्न दो

27

मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अजमेर के ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह के दीवान जैनुल अबेदीन अली खान द्वारा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री परवेज अशरफ की जिआरत का विरोध करने पर उनकी तारीफ की है।
उद्धव ने पार्टी के मुख पत्र, सामना में एक लेख में सोमवार को लिखा है, ‘देशभक्ति की भावना और देशप्रेम से उन्होंने यह दिखा दिया है कि वह देश के सच्चे रत्न हैं, और उन्हें भारत का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान भारत रत्न दिया जाना चाहिए।’
खान के साहस पूर्ण, बेजोड़ और मानवीय कदम की प्रशंसा करते हुए उद्धव ने कहा कि दीवान ने यह महसूस किया होगा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के लिए धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन करना, उन भारतीय जवानों की स्मृतियों का अपमान करने के समान होगा, जिनकी पाकिस्तानी सेना ने हाल में नृशंस हत्या कर दी थी।
उद्धव ने कहा कि इसके विपरीत, भारत के विदेशमंत्री ने अशरफ की भव्य आगवानी करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और उनके लिए शाही दावत का आयोजन भी किया।
उद्धव ने कहा कि, अशरफ के चले जाने के बाद लोगों ने उन रास्तों की सफाई की, जहां अजमेर में वह घूमे थे। मुसलमान तह ए दिल से इस सफाई अभियान में शामिल हुए। दीवान का यह कदम कट्टर मुसलमानों सहित सरकार की आंख खोलने वाला और नए चलन की शुरुआत करने वाला है।
उद्धव ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि जिस तरह पाकिस्तान उनकी तारीफ करने वाले भारतीयों को अपने सर्वोच्च सम्मान ‘निशान ए पाकिस्तान’ से नवाजता है, उसी तरह भारत भी इसका जवाब दे सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here