एक दर्जन जिलों में बढ़ा डेंगू का खतरा

0
9
जबलपुर। डेंगू का खतरा जबलपुर सहित आसपास के एक दर्जन जिलों में बढ़ता ही जा रहा है। डेंगू के पॉजिटिव केस की संख्या जहां एक संभाग में सैकड़ा पार कर गई है। वहीं आसपास के जिलों में डेंगू से होने वाली मौत का आंकड़ा भी बढ़ता ही जा रहा है। जबलपुर में अभी मंडला, नरसिंहपुर, सागर के बीस से ज्यादा पॉजिटिव मरीज इलाज करा रहे हैं। इनमें से 6 मरीज मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती है, जबकि शेष्ा मरीज निजी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं। डेंगू के जबलपुर जिले में 14 पॉजिटिव केस सितम्बर से अक्टूबर के बीच में आए हैं। 13 पॉजिटिव मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं। जबकि एक पॉजिटिव और 3 संदिग्ध मरीज अस्पताल में इलाज ले रहे हैं। इसके अलावा नरसिंहपुर जिले में डेंगू के 85 पॉजिटिव केस आए हैं। इनमें से 7 मरीजों की मौत हो गई। कटनी में अब तक 25 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। जिनमें से 3 की इलाज के दौरान मौत हो गई। मंडला में 21 पॉजिटिव केस आए । जिनमें से 05 की मौत हो गई। इसके अलावा अनूपपुर में डेंगू के 4, दमोह में दो केस सामने आए हैं। वहीं सागर संभागीय मुख्यालय में डेंगू के पांच पॉजिटिव मामले आए। जिनमें से सभी की मौत हो गई। सागर से 8 संदिग्ध मरीज जिले में इलाज करा रहे हैं। जबलपुर के अलावा आसपास के संभाग से 53 डेंगू के संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए पुणे की लैब भेजे गए हैं। फिलहाल इसकी रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, जो शुक्रवार शाम तक आने की उम्मीद है। सीएमएचओ डॉ.बीएस चौहान के अनुसार सरकारी एवं निजी अस्पतालों में डेंगू के हर केस की रिपोर्ट मलेरिया विभाग द्वारा रखी जा रही है। जिला अस्पताल और नेताजी सुभाष्ा चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल में डेंगू के मरीजों के लिए एक अलग वार्ड बनाया गया है।

LEAVE A REPLY