गरीबों के कल्याण के लिये चलेगा साधिकार अभियान

0
9
कलेक्टर पी.नरहरि की अध्यक्षता में आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में राज्य शासन के साधिकार अभियान के संबंध में बैठक आयोजित की गयी। कलेक्टर श्री नरहरि ने इस अवसर पर उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में साधिकार अभियान के तहत गांव-गांव, घर-घर जाकर अधिकारी और कर्मचारी हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों से निर्धारित प्रपत्र भरवाकर परीक्षण उपरांत लाभांवित करेंगे। उन्होंने कहा कि शासन की हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ मिलना जनता का अधिकार है। उन्हें इससे वंचित नहीं किया जा सकता। 
   उन्होंने यह भी कहा कि राज्य शासन द्वारा अगले एक वर्ष तक “गरीब कल्याण वर्ष” मनाया जाएगा। 26 सितम्बर से 26 अक्टूबर तक साधिकार अभियान चलाया जाएगा, जिसके तहत 2 अक्टूबर को विशेष ग्राम सभा का आयोजन किया जाएगा। इस अभियान में एसडीएम और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। राज्य शासन द्वारा साधिकार अभियान हेतु समयबद्ध कार्यक्रम जारी किया गया है। सभी प्रमुख विभागों के अधिकारियों को 29 सितम्बर को इस संबंध में  प्रशिक्षण दिया जाएगा। 28 सितम्बर से एक अक्टूबर तक जिले के सभी ग्रामों में डोडी पिटवाकर ग्रामीणों को साधिकार अभियान के संबंध में जानकारी दी जाएगी। साधिकार अभियान के प्रथम चरण में 2 से 4 अक्टूबर तक जिले के 210 ग्रामों में हितग्राहियों से सम्पर्क किया जाएगा। द्वितीय चरण में 6 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक जिले के 210 ग्रामों में यह अभियान चलाया जाएगा और तृतीय चरण में 10,11 और 12 अक्टूबर को शेष 213 ग्रामों में इस अभियान के तहत घर-घर जाकर हितग्राहियों से निर्धारित प्रपत्र में विभिन्न विभागीय योजनाओं से संबंधित आवेदन पत्र भरवाए जायेंगे। प्राप्त आवेदन पत्रों का सात दिवस में निराकरण किया जाएगा। हितग्राहियों को आवेदन पत्र भरने के बाद पावती भी दी जाएगी। 21 से 23 अक्टूबर तक हितग्राहियों के आवेदन पत्रों का परीक्षण कर आवेदनों का नियमानुसार निराकरण कर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। 
   कलेक्टर पी.नरहरि ने शिक्षा, न्याय, स्वास्थ्य, सामाजिक न्याय, ग्रामीण विकास आदि विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे पर्याप्त मात्रा में निर्धारित आवेदन पत्र छपवाकर जिला पंचायत में तीन दिन के भीतर प्रेषित करें। तदुपरांत ये आवेदन पत्र जनपद पंचायत के माध्यम से ग्राम पंचायत सचिवों और पटवारियों तक पहुंचाये जायेंगे। 10 ग्रामों के बीच एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति की गयी है। ग्रामीणों को अटल पेंशन योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, श्रम विभाग के पंजीकृत श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। सभी विभागों के समन्वय का काम जिला पंचायत सीईओ द्वारा किया जाएगा। हितग्राहियों को कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी और मछली पालन विभाग की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी दिलाया जाएगा। राजस्व विभाग द्वारा ऋण पुस्तिका का भी वितरण किया जाएगा।
   बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आशीष सिंह, अपर कलेक्टर  दिलीप कुमार के अलावा सभी एसडीएम सभी जिला पंचायत सीईओ और विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY