दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा सीआईएसएफ की महिला कमांड़ो के हाथ में

0
12
नई दिल्ली: सरकार ने महिलाओं कि सुरक्षा को बढ़ाने के लिए मेट्रो
के महिला कोच में सीआईएसएफ की महिला कमांडों को तैनात किया जायेगा। मेट्रो में तैनात
होने वाली महिला कमांडों को फिलिपींस की मार्शल-आर्ट पैकिटी-तिरसिया-काली का प्रशिक्षण
दिया जायेगा। सीआईएसएफ ने इसका नाम ऑपरेशन काली दे दिया है।
सुरक्षा बल ने यह अभियान इसलिए शुरू करने का फैसला किया क्योंकि
उसने पाया कि गैरकानूनी तरीके से महिलाओं के डिब्बे में पुरूष यात्रियों के चढऩे की
घटनाएं कम नहीं हो रही हैं और हर दिन ऐसे करीब 40
से 50 मामलों की खबर आती है।
सीआईएसएफ के डीजी अरविंद रंजन ने कहा है कि मार्शल आर्ट के  प्रशिक्षण के लिए यह महिला कमांडो महिला कोच में
चढऩे वाले पुरूष यात्री को समझाकर-बुझाकर बाहर निकालेगी। लेकिन थोड़े दिनों बाद ऐसे
व्यक्तियों पर सख्ती से पेश आया जाएगा। इसमें ऐसे व्यक्ति के हाथों को पीछे से बन्द
करके नियंत्रण कक्ष में ले जाया जाएगा।
सीआईएसएफ का मानना है कि यह महिला कमांडो ज्यादातर समय में सिविल
ड्रेस में तैनात रहेगी। यानी यह सीआईएसएफ कि वर्दी नहीं पहनेगी। आम लड़कियों की तरह
ही यह भी मेट्रो में अपनी तैनाती रखेगी। इससे जो भी लडक़े महिला कोच में चढ़ेंगे, यह उन्हे तत्काल ही पकड़ लेगी।
सीआईएसएफ कि एक महिला कमांडो 10
से भी ज्यादा लडक़ों को सबक सिखाने में कामयाब होंगी। सीआईएसएफ का
मानना है कि इन महिला सुरक्षा कर्मियों को 7
सप्ताह का प्रशिक्षण दिया जायेगा। दो बैच का प्रशिक्षण दे दिया गया
है। तीसरे बैच का प्रशिक्षण 29
सितंबर से चालू किया जायेगा।

सीआईएसएफ ने कहा है कि सीआईएसएफ की हर एक महिला कर्मी को इस प्रकार
की मार्शल आर्ट कि ट्रेनिंग दि जायेगी। जिससे कि जरूरत पडऩे पर वह न केवल मनचलों को
सबक सिखा सकें बल्कि विभिन्न प्रकार की आपातकालीन स्थिति में भी उनका यह प्रशिक्षण
काम आ सकें।

LEAVE A REPLY