रियल एस्टेट में अनिल अंबानी का बड़ा कदम

31

अनिल अंबानी नियंत्रित रिलायंस ग्रुप ने चीन के वांदा ग्रुप के साथ एक संयुक्त उपक्रम संबंधी करार किया है। इस करार के तहत देश में इंटिग्रेटेड टाउनशिप परियोजनाओं का विकास किया जाएगा। शुरुआत में दोनों मिलकर नवीं मुंबई में 135 एकड़ भूमि पर टाउनशिप का विकास करेंगे। यह भूमि रिलायंस कम्यूनिकेशंस लिमिटेड (आरकॉम) के पास है।इसके साथ ही हैदराबाद में रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर (आरइंफ्रा) के कब्जे वाली 80 एकड़ भूमि पर भी इंटिग्रेटेडटाउनशिप का विकास किया जाएगा।
गौरतलब है कि आरकॉम व आरइंफ्रा, अनिल अंबानी नियंत्रित रिलायंस ग्रुप की शाखाएं हैं। रिलायंस ग्रुप के बयान में कहा गया है कि दोनों ग्रुप के बीच लंबे समय की रणनीतिक साझीदारी के लिए संयुक्त उपक्रम की स्थापना की जाएगी। इस संयुक्त उपक्रम की स्थापना के लिए ही मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए हैं। बयान के मुताबिक संयुक्त उपक्रम की पहली प्राथमिकता भारत में इंटिग्रेटेड टाउनशिप विकसित करने पर रहेगी। इसमें कॉमर्शियल बिल्डिंग व रेजिडेंशियल अपार्टमेंट्स, होटल व रिटेल स्पेस शामिल रहेंगे। लेकिन संयुक्त उपक्रम की गतिविधियां इन्हीं तक सीमित नहीं रहेगी। 
वांदा ग्रुप दुनिया का अग्रणी रियल एस्टेट डेवलपर है।इस ग्रुप ने चीन के 50 शहरों में कुल 13 करोड़ वर्गफुट से ज्यादा स्पेस में 66 इंटिग्रेटेडपरियोजनाओं का विकास किया है। इस ग्रुप ने 6,000 से ज्यादा मल्टीप्लैक्स का विकास भी किया है। रिलायंस ग्रुप का कहना है कि वांदा ग्रुप की विशेषज्ञता का लाभ सबसे पहले नवीं मुंबई में विकसित होने वाले धीरूभाई अंबानी नॉलेज सिटी कांप्लैक्स के विकास में लिया जाएगा। यहां एक करोड़ वर्गफुट स्पेस में विकास की संभावनाएं हैं। यह भूमि आरकॉम के पास है। ग्रुप हैदराबाद में एक नई बिजनेस डिस्ट्रिक्ट परियोजना पर भी काम कर रहा है। 
आरइंफ्रा के कब्जे वाली इस भूमि पर कॉमर्शियल व रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट के अलावा होटल भी विकसित किया जाएगा।यह परियोजना विभिन्न चरणों में विकसित की जाएगी। रिलायंस ग्रुप का कहना है कि वह मल्टीप्लैक्स विकास के क्षेत्र में भी वांदा ग्रुप की विशेषज्ञता का लाभ लेगा।इसके तहत रिलायंस मीडिया वक्र्स के साथ मिलकर भारत व अमेरिका में मल्टीप्लैक्स के विकास की संभावनाएं तलाशी जाएंगी। 

नए गठजोड़ के बारे में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने कहा कि यह ग्रुप पिछले कुछ वर्षों के दौरान भारत व चीन के बीच सबसे बड़े कारोबारी ग्रुप के तौर पर उभरा है। हमने चीन में बैंकों, वित्तीय संस्थाओं और कारोबारियों के साथ बेहद मजबूत रिश्ते बनाए हैं। अब हम इस रणनीतिक रिश्ते को बेहद सफल वांदा ग्रुप के साथ एक नई ऊंचाई पर ले जाना चाहते हैं। इससे दोनों ही ग्रुप और उनके हिस्सेदारों को भविष्य में बड़ा फायदा होगा। वांदा ग्रुप के चेयरमैन वैंग जियानलिन ने कहा कि रिलायंस ग्रुप व वांदा ग्रुप अपने-अपने देशों में दो सबसे बड़े निजी ग्रुप के तौर पर स्थापित हैं। इस गठजोड़ से दोनों ग्रुप को बेहद लाभ होगा।
निगाहें
शुरुआत में दोनों मिलकर नवीं मुंबई में 135 एकड़ भूमि पर टाउनशिप का विकास करेंगे
हैदराबाद में 80 एकड़ भूमि पर भी इंटिग्रेटेड टाउनशिप का विकास किया जाएगा
इसमें कॉमर्शियल बिल्डिंग व रेजिडेंशियल अपार्टमेंट्स, होटल व रिटेल स्पेस शामिल रहेंगे
रिलायंस ग्रुप मल्टीप्लैक्स विकास के क्षेत्र में भी वांदा ग्रुप की विशेषज्ञता का लाभ लेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here