किसानों के लिये जी-जान एक कर दूंगाः वरूण

0
19
मुजफ्फरनगर/मीरापुर/मोरना। जनपद के गांव गंगदासपुर में पहुंचे भाजपा के फायरब्रांड नेता व सांसद वरूण गांधी ने प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोलते हुये कहा कि किसानों का दुख दर्द उत्तर प्रदेश में देखा नहीं जा रहा है। किसान आत्महत्या कर रहे है। मै मानता हूं कि यह आत्महत्या नहीं, प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही हत्या है। किसानों के दुख दर्द में सभी को सहयोग करना चाहिए, क्योंकि इससे धरती पुत्र किसान परिवारों को जीने का हौसला मिलता है। उन्होंने सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के हालात इतने खराब है कि बयान नहीं किये जा सकते। हर तरफ बुरा हाल है। सांसद वरूण गांधी ने मुजफ्फरनगर से मुआवजा देने की शुरूआत की है। आत्महत्या कर चुके किसानों के परिजनों को अपनी सांसद निधि से एक-एक लाख रूपये देंगे, जिसके तहत आज वरूण गांधी ने ककरौली क्षेत्र के गांव गंगदासपुर में मृतक किसान अनिल की पत्नी राजरानी को एक लाख का चैक दिया और अपनी शोक संवेदना व्यक्त की। इसके उपरान्त गांव गंगदासपुर के प्राईमरी स्कूल में आयोजित एक सभा में उन्होंने कहा कि वो प्रदेश के दौरे पर निकले हैं और मृतक किसानों के परिजनों को अपनी सांसद निधि से आर्थिक मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि समाज को सभी के दुख दर्द में सहयोग करना चाहिए और उत्तर प्रदेश का किसान बहुत बुरी स्थिति में है। प्रदेश सरकार उनकी सुन नहीं रही। किसानों के साथ ही प्रदेश में अपराधों का ग्राफ भी काफी बढ रहा है और काफी व्यवस्था खराब है, लेकिन सपा सरकार तुष्टिकरण की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मैं प्रदेश में हर जगह जाऊंगा, जहां-जहां भी मुझे किसानों पर जुल्म व उत्पीडन की खबरे मिलेंगी, मैं वहीं पर जाऊंगा। मुजफ्फरनगर से लेकर सोनभद्र तक मैं किसानों के लिए जी-जान एक कर दूंगा, भले ही मुझे इसके लिए कुछ भी करना पडे। मैं किसी के भी बुलावे का इंतजार नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि किसानों की सेवा के लिये मैं हर समय तैयार हूं। इस दौरान क्षेत्रीय सांसद कुंवर भारतेन्दु सिंह, पूर्व विधायक अशोक कंसल, डॉ. वीरपाल निर्वाल, सुनील तायल, दिनेश धीमान, रामकुमार शर्मा, रामपाल, श्याम सिंह सैनी, अतुल सैनी, रामपाल टेलर, नवीन सैनी, विरेन्द्र नागर सहित बडी संख्या में लोग मौजूद रहे। मीरापुर। भाजपा के फायर ब्राण्ड नेता एवं सुल्तानपुर सांसद वरूण गांधी का गंगदासपुर जाते समय मीरापुर कस्बे में हजारों की भीड़ ने भव्य स्वागत किया। इस दौरान दिल्ली-पौडी राजमार्ग पर भारी जाम लग गया। ककरौली थानाक्षेत्र के ग्राम गंगदासपुर निवासी मृतक किसान अनिल की पत्नि को एक लाख रूपये का चैक भेंट करने जाते समय भाजपा के पफायर ब्राण्ड नेता व सांसद वरूण गांधी के मीरापुर पहंचने से करीब दो घन्टे पूर्व वरूण गांधी यूथ ब्रिगेड के विधानसभा प्रभारी सतेन्द्र गिरि के नेतृत्व में हजारों की संख्या में भीड़ दिल्ली-पौडी राजमार्ग पर शर्मा धर्म काँटे के निकट एकत्रा हो गयी तथा निर्धारित कार्यक्रम से दो घन्टे देरी से यहां पहुंचे सांसद वरूण गांधी का भीड ने पफूल-मालाऐं पहनाकर भव्य स्वागत किया। इस दौरान सांसद वरूण गांधी कुछ पलों के लिये अपनी गाडी की खिडकी पर खडे हो गये तथा यहां उन्होंने समर्थकों की फूल-मालाऐं लेकर उनका अभिवादन स्वीकार किया। इस दौरान वरूण गांधी के काफिले में शामिल सैकडो कारों के दिल्ली-पौडी राजमार्ग पर रूकने से यातायात अवरूद्ध हो गया तथा सडक पर दोनों ओर लम्बा जाम लग गया। समर्थकों ने वरूण गांधी जिन्दाबाद के नारों के साथ सडक को कुछ पलों के लिये अवरूद्ध कर दिया। अपना जोश-खरोश के साथ स्वागत देख वरूण गांधी भी गदगद हो उठे। इस अवसर पर मुख्यरूप से सतेन्द्र गिरि, जितेन्द्र गिरि, बिजेन्द्र गिरि, विकास शर्मा, चौधरी ब्रजपाल सिंह, राहुल गिरि, नीटू गोस्वामी, अमित सैनी, अनिल शर्मा, मनोज कुमार, नन्दकिशोर पाल, गौरव त्यागी, संजय चौधरी, राजीव कुमार, मदन गिरि आदि शामिल रहे। अकेला चलो नीति पर चल पडे वरूण गांधी? मुजफ्फरनगर। जनपद में पहुंचे भाजपा सांसद वरूण गांधी के आने के सियासी मायने निकालने के लिए राजनीतिक समीक्षक लग गये है माना जा रहा है कि पार्टी में बैकफुट पर चल रहे सांसद वरूण गांधी अब उत्तर प्रदेश की राजनीति में अपना निजी जनाधार और दमखम दिखाने के लिए लोगों को जोडने के प्रयास में विभिन्न जनपदों में घूम रहे है, हालांकि यहां उन्हें अपनी यात्रा का कारण ओलावृष्टि में मरे किसान को एक लाख रूपये की सहायता देना बताया है, लेकिन दूसरी ओर, यह भी माना जा रहा है कि पश्चिम से लेकर पूर्वांचल के जिलों में वरूण गांधी खुद ही सक्रिय होकर अपना वजूद कायम करने में लगे है ओर भाजपा के शीर्ष नेताओं को वो अपनी ताकत का लोहा मनवाना चाहते है कि वो हर जगह घूम रहे है और लोग उन्हे पसंद कर रहे है। जब केंद्र में भाजपा सरकार बनी थी, तो उत्तर प्रदेश में भी कई बार उनको लेकर विवादित समाचार सामने आये थे, खुद वरूण की माता मेनका गांधी ने एक बार यह बयान देकर सभी को आश्चर्य में डाल दिया था कि वरूण गांधी को यूपी का मुख्यमंत्री बना दिया जाये, तो सभी स्थिति अच्छी हो जायेगी। इस बयान के बाद भाजपा में अंदरखाने काफी तूफान मचा था, तभी से माना जा रहा है कि वरूण गांधी पार्टी में बैकफुट पर चल रहे है और पार्टी उन्हे अपने एजेंडे से अलग कर निजी एजेंडे पर काम करने के लिए विवश कर रही है, अब इसके पीछे चाहे 2017 का चुनाव हो या फिर वरूण गांधी खुद को आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा पार्टी के लिए सीएम का एक चेहरा बनाये जाने की दौड में शामिल होना चाहते हो और सपा व बसपा का मुकाबला उनके चेहरे के माध्यम से ही भाजपा कर सकती है, लेकिन भाजपा के नेता जिस तरह से वरूण गांधी के कार्यक्रमों में कन्नी काट रहे है इससे लग रहा है कि वरूण गांधी उत्तर प्रदेश में भाजपा के संगठन व पार्टी की नीतियों से अलग ही चल रहे है और अकेला चलो की नीति के साथ वो भाजपा के चोले में अपना एजेंडा चलाने का प्रयास कर रहे है।

LEAVE A REPLY