मतदान कार्य बाधित बाधित करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

4

ग्वालियर। सेक्टर मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी व जोनल अधिकारी सजग एवं मुस्तैद रहकर स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से मंडी चुनाव सम्पन्न करायें। सभी अधिकारी टीम वर्क के साथ काम करें और मतदान में बाधा डालने वालों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई करें। उक्त आशय के निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पी नरहरि तथा पुलिस अधीक्षक डॉ. जीके पाठक ने संयुक्त रुप से दिए।
वे गुरुवार को यहाँ राज्य स्वास्थ्य प्रबंधन एवं संचार संस्थान में आयोजित हुई सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक में मंडी निर्वाचन की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। इस बैठक से पहले कलेक्टर ने जोनल अधिकारियों की बैठक लेकर शांतिपूर्ण ढंग से मतदान सम्पन्न कराने के निर्देश दिये।
कलेक्टर पी नरहरि ने कहा कि सभी अधिकारी अपने कर्तव्यों को भलीभाँति समझ लें और मंडी चुनाव को पूरी गंभीरता से लें। उन्होंने जोनल अधिकारियों और सेक्टर मजिस्ट्रेट को साफ तौर आगाह किया कि चुनाव ड्यूटी में किसी प्रकार की ढिलाई होने पर सीआर में विपरीत टिप्पणी दर्ज करने के साथ-साथ कठोर कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि जोनल अधिकारियों को मतदान के दिन सेक्टर मजिस्ट्रेट के अधिकार भी रहेंगे। उन्होंने निर्वाचन संबंधी कायदे कानूनों का पालन करने को भी कहा। साथ ही सेक्टर मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों के संयुक्त भ्रमण पर जोर दिया।
पुलिस अधीक्षक डॉ. जीके पाठक ने कहा कि असमाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ाई से प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करें। साथ ही मतदान दिवस को अनावश्यक रुप से चलने वाले वाहनों का आवागमन भी सख्ती से रोकें।
अपर जिला दण्डाधिकारी सतेन्द्र सिंह ने बैठक में जानकारी दी कि मंडी निर्वाचन को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिये लगभग 140 वाहन सतत रुप से मतदान केन्द्रों के भ्रमण पर रहेंगे। इस प्रकार कुल 384 मतदान केन्द्रों में से औसतन हर तीन मतदान केन्द्र के संपर्क में एक वाहन रहेगा।
बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी अजयदेव शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अवधेश गोस्वमी,  वीरेन्द्र जैन व योगेश्वर शर्मा तथा जिले के सभी अनुविभगीय दण्डाधिकरी, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी, तहसीलदार तथा सेक्टर मजिस्ट्रेट व जोनल अधिकारी के रुप में तैनात किए गए अधिकारियों सहित जिले के सभी पुलिस थानों के प्रभारी मौजूद थे।