हेलिकॉप्टर घोटाले का आरोपी भ्रष्टाचार के आरोपों से बरी

9
मिलान। वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में इटली की एक अदालत ने अपना एक अहम फैसला सुनाया है। इटली की एक अदालत ने गुरुवार को फिनमेकैनिका कम्पनी के पूर्व सीईओ ग्यूसेप ओर्सी और अगस्ता वैस्टलैंड के पूर्व प्रमुख ब्रुनो स्पागनोलिनी को इटली की अदालत ने भ्रष्टाचार के आरोपों से तो बरी कर दिया। लेकिन खबर है कि भारत के साथ 3600 करोड़ के इस सौदे के दौरान चालान में गड़बड़ी का दोषी पाते हुए ओर्सी और ब्रुनो को दो-दो साल की सजा सुनाई है। 
तमाम रिपोर्ट्स के अनुसार फिनमेकैनिका के पूर्व सीईओ ओर्सी तथा अगस्ता वेस्टलैंड के पूर्व प्रमुख ब्रुनो स्पागनोलिनी को भारत सरकार को 12 हेलिकॉप्टरों की बिक्री के सौदे में कथित तौर पर रिश्वत देने के आरोपी थे। लेकिन उन्हें अदालत ने उन्हें अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार के आरोपों से बरी कर दिया है। 
दरअसल, यह मुकदमा भारत सरकार को 12 हेलिकाप्टरों की आपूर्ति के लिए वर्ष 2010 में फिनमेकैनिका और अगस्ता वेस्टलैंड के साथ हुए 560 मिलियन यूरो (करीब 3, 600 करोड़ रुपये) के अनुबंध को लेकर था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here