दिवालिया होने से बचे यूनान में कल से खुल जाएंगे बैंक

0
7
एथेंस : यूरोपीय कर्जदाताओं के बेलआउट पैकेज देने की सहमति के बाद दिवालिया होने से बचे यूनान के बैंकों में तीन सप्ताह बाद कल से कामकाज शुरू हो जाएगा। यूनान के आर्थिक सुधारों को लागू करने की यूरोपीय आयोग, यूरोपीय केंद्रीय बैंक (ईसीबी) और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की शर्त्तों को मानने से नये बेलआउट पैकेज मिलने पर सहमति बनने और उसके यूरोक्षेत्र से बाहर जाने का खतरा टलने के बाद यूनान के प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने सोमवार से बैंकों में कामकाज शुरू करने का आदेश दिया है। श्री सिप्रास ने बेलआउट पैकेज की शर्त्तों का विरोध करने वाले मंत्रियों को बर्खास्त करने और मंत्रिमंडल का नये सिरे से गठन करने के कुछ घंटे बाद ही बैंकों को खोलने के साथ ही धन निकासी की पहले की सीमा में ढील देने का आदेश जारी किया है। अब लोग प्रत्येक सप्ताह 420 यूरो बैंकों/एटीएम से निकाल सकेंगे लेकिन यूनान से बाहर धन भेजने पर लगी रोक नहीं हटायी गयी है। अरबों डॉलर के कर्ज में डूबे यूनान में ऋण संकट गहराने से घबराये लोगों द्वारा ताबड़तोड़ धन की निकासी करने से बैकिंग तंत्र को धराशायी होने से बचाने के लिए 28 जून को बैंकों में कामकाज स्थगित करने के साथ ही एटीएम से धन निकालने की सीमा निर्धारित कर दी गयी थी। यूनान के नवनियुक्त श्रम मंत्री जॉर्ज कैट्रोगैलॉस ने कहा, ”नये बेलआउट पैकेज पर अगले सप्ताह शुरू होने वाली वार्ता में हमारा उद्देश्य समझौते की शर्त्तों और उसे लागू करने के तरीकों पर बातचीत करना है।” उन्होंने कहा कि व्यय में कटौती और कर बढ़ोत्तरी की नीति (आॅस्टैरिटी पॉलिसी) का विरोध करके जनवरी में सत्ता में आयी सिप्रास सरकार को अगले सप्ताह की वार्ता के दौरान समझौते का रुख सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम को बनाये रखने के पक्ष में मोड़ने के लिए संघर्ष करना होगा।

LEAVE A REPLY