रेलवे के दो आईजी, एक ने किया दूसरे को चार्ज देने से इंकार

0
10
 जबलपुर। आरपीएफ के दो वरिष्ठ अधिकारियों के बीच गुरुवार को एक नाटकीय घटनाक्रम देखने मिला। यहां पुराने आईजी ने नई पदस्थापना पर आए आईजी को पदभार देने से इंकार कर दिया। यहीं नहीं पदभार न देना पड़े इसके लिए वे रेलवे के अस्पताल में भर्ती हो गए। दोनों अधिकारियों के बीच हुई नूरा कुश्ती पूरे दिन रेलवे मुख्यालय में चर्चा का विषय बनी रही। वहीं रेलवे अस्पताल के सूत्रों का कहना है कि आईजी को कोई गंभीर बीमारी या समस्या नहीं है, उनकी हालत सामान्य है। रेलवे बोर्ड द्वारा आरपीएफ में नई पदस्थापनाएं व स्थानांतरण किए गए हैं। इसी क्रम में जबलपुर मंडल के आरपीएफ के वर्तमान आईजी एसके पाड़ी का तबादला दूसरी जगह कर उनके स्थान पर आरके मलिक को भेजा गया है। मलिक गुरुवार दोपहर पदभार ग्रहण करने मुख्यालय पहुंचे। उन्होंने एसके पाड़ी से चार्ज सौंपने की बात कही, इस पर पाड़ी ने चार्ज देने से साफ इंकार कर दिया। आधा घंटे से अधिक चली बहस के बाद एसके पाड़ी बीमारी का बहाना बनाकर रेलवे अस्पताल में भर्ती हो गए। जिसके चलते आरके मलिक चाहकर भी पदभार ग्रहण नहीं कर सके। सूत्रों के अनुसार दोनों में विभागीय तबादलों को लेकर कुछ बहस हो गई थी, जिससे एेसी स्थिति निर्मित हुई है। पाड़ी की हालत सामान्य है और वे केवल आराम करने की दृष्टि से अस्पताल में भर्ती हुए हैं। दोनों आला अधिकारियों की आपसी खींचतान जीएम और डीआरएम कार्यालय तक पहुंच गई है। जहां समस्या का समाधान खोजने के प्रयास शुरू हो गए हैं। वहीं रेलवे अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में आरपीएफ के जवानों को तैनात कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY