पाक और चीन बलूचिस्तान के लिए बड़ा खतरा:मारी

0
112

जिनीवा। बलूचिस्तान में आम जनता पर हो रहे जुल्मों के चलते यूरोपियन यूनियन एवं संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग में बलूच जनता के प्रतिनिधि मेहरान मारी ने जिनीवा में पाकिस्तान के जुल्मों की कहानी बयान करते हुए बताया कि पाक में नवाज के प्रधानमंत्री बनने के बाद से बलूचिस्तान में पाक सेना की दखलअंदाजी बढ़ गई है।

मेहरान मारी ने कहा कि पाक कभी नहीं चाहता था कि बलोच जनता UN में पाक द्वारा किए जा रहे अत्याचारों की कहानी पूरी दुनिया को बताए। बलोच रिपब्लिकन पार्टी के प्रमुख बरहुमदाग बुगती ने पाक सेना पर आरोप लगाते हुए कहा कि बलूचिस्तान में पहले पाक सेना लोगों का अपहरण कर उन पर जुल्म करने के बाद रिहा कर देती थी। लेकिन अब अपहरण कर मारने के बाद शव फेंक देते हैं। लोगों द्वारा विरोध किए जाने पर परेशान किया जाता है, ताकि वे बलूचिस्तान छोड़कर चले जाएं। बलूचिस्तान में चीन की बढ़ती सक्रियता भी लोगों पर अत्याचार का कारण हैं।

मेहरान ने कहा कि पाक की ही तरह चीन भी बलूच जनता एवं उनके संसाधनों के लिए बहुत बड़ा खतरा है। बरहुमदाग बुगती ने बलूचिस्तान होते हुए बनने वाले चीन-पाक आर्थिक कॉरिडोर को लेकर पाक पर कड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि पाक सेना का मकसद चीन की कंपनियों को बलूचिस्तान लेकर आना है। बलूचिस्तान ने भारत के PM नरेन्द्र मोदी से भी अंतरराष्ट्रीय मंचों व UN में यह मुद्दा उठाने की अपील की है।

LEAVE A REPLY