दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान नाव पलटी

0
11

जबलपुर। दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान सुरक्षा व्यवस्थाओं का दम भरने वाले स्थानीय प्रशासन, नगर निगम की पोल फिर एक बार खुल गई है। देर रात गोकलपुर तालाब में विसर्जन के दौरान नाव पलटने से उसमें सवार आधा दर्जन लोग डूब गए। हालांकि सभी को समय रहते बचा लिया गया, लेकिन बड़ा हादसा होने की पूरीं संभावना बनी हुई थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को दशहरा के दौरान शहर के विभिन्न तालाबों में दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन हो रहा था। गोकलपुर तालाब में भी विसर्जन घाट बनाया गया, लेकिन गोताखोर तैनात नहीं थे। देर रात एक दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन करने उसे नाव में रखा गया। जिसके साथ नाविक, एक पुलिसकर्मी व कुछ भक्त भी चले गए।

नाव शुरू से ही डोल रही थी, इसके बावजूद उसे किसी ने नहीं रोका। तालाब के बीचोंबीच पहुंचकर जब प्रतिमा को पानी में डुबाया जाने लगा, तब नाव का संतुलन बिगड़ गया और प्रतिमा के साथ नाव भी पलट गई। इससे नाव में मौजूद दुर्गा समिति के विजय चतुर्वेदी, विशाल चौहान, अनिल पटैल को जैसे तैसे बचाया जा सका, बाकी लोग तैरकर बाहर निकल आए। लोगों के सकुशल बाहर आने पर माता रानी के प्रति लोगों ने धन्यवाद ज्ञापित कर आभार व्यक्त किया।

पार्षद राजेश यादव, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी रांझी के अध्यक्ष शिव यादव, एड. राजेन्द्र मिश्रा ने प्रशासन की लापरवाही पर आक्रोश व्यक्त किया है। उनका कहना है कि हर बार व्यवस्थाएं अधूरी छोड़ दी जाती हैं।

LEAVE A REPLY