देश में आर्थिक इमरजेंसी जैसे हालात : दिग्विजय

0
8

अपने तेज तर्रार बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शनिवार को जबलपुर पहुचे पत्रकारों से चर्चा के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर निशाना साधा. दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की नोट स्ट्राइक महज एक तुगलकी फरमान है. उन्होंने कहा कि मोदी के इस कदम से देश में आर्थिक आपातकाल जैसे हालात बन गए हैं.

दिग्विजय ने वर्तमान हालात पर कटाक्ष करते हुए कहा कि चुनाव से पहले हर-हर मोदी का नारा दिया गया था. परंतु अब यह बदल कर फुर-फुर मोदी हो गया है. अभी तक नोट पूरी तरह छप कर नहीं आए हैं, जिससे देशवासी जबरदस्त परेशानी का सामना कर रहे हैं. देश को ऐसी हालत में छोड़कर मोदी जापान में बैठे हैं.

चाय पीने को मोहताज
दिग्गी ने कहा कि हफ़्ते में 1000-2000 रुपए कमाने वाले मजदूरों को खासी दिक्कत हो रही है. वे चाय पीने तक को मोहताज हो गए हैं. उन्होंने कहा कि इतना बड़ा फैसला बिना कैबिनेट को विश्वास में लिए हुए ले लिया गया. यह हास्यास्पद है.

एनकाउंटर पर एनकाउंटर
एक सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि फर्जी एनकाउंटर वाली अपनी बात पर मैं कायम हूं. यह बात बिल्कुल सही है कि जेल के कर्मचारी वीआईपी ड्यूटी में तैनात थे. जिस वक्त कैदी भागे उस समय जेल में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे. इसकी जांच भी चल रही है. विमान से जबलपुर आने के बाद दिग्विजय सबसे पहले पत्नी अमृता सिंह के साथ सिविक सेंटर स्थित बगलामुखी मंदिर पहुंचे. भगवती का पूजन किया.

इस दौरान उनके साथ राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, नगर अध्यक्ष दिनेश यादव, पूर्व मंत्री कौशल्या गोंटिया, वरिष्ठ अधिवक्ता शशांक शेखर, मुकेश राठौर समेत काग्रेसजन उपस्थित रहे. यहां पत्रकारों से चर्चा के बाद कार से वे शहडोल रवाना हो गए. उनके साथ कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता भी शहडोल रवाना हुए हैं.

दिग्विजय सिंह और उनकी पत्नी अमृता सिंह का दोपहर जबलपुर आगमन हुआ। उन्होंने सिविक सेंटर स्थित बगलामुखी मंदिर में सपत्नीक पूजा की। इसके बाद कार्यकर्ताओं से मुलाकात करके वे बांधवगढ़ रवाना हो गए।

ये थे उपस्थित

पूर्व महापौर विश्वनाथ दुबे, कौशल्या गोंटिया, दिनेश यादव, रेखा जैन, रत्नेश अवस्थी, विवेक अवस्थी, मधु चौधरी, झल्लेलाल जैन, इंदिरा तिवारी, विनीता यादव, दुर्गेश पटेल, मनोज सेन, अरुण पवार, मनोज सेठ, रामदास यादव, टीकाराम कोष्टा, रुकमणि गोंटिया, रामजियन सिंह, राहुल व अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY