वर्ष 2013-14 के बजट से हर किसी को उम्मीदें

14
डा. राजीव पत्थरिया
कुछ माह पहले सत्तारूढ़ हुई कांग्रेस सरकार का पहला बजट सत्र 12 मार्च से शुरू हो गया है जो 9 अप्रैल तक चलेगा। इस बजट सत्र के दौरान मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सदन में वित्त वर्ष 2013-14 के बजट अनुमान पेश करेंगे। नई सरकार के इस पहले बजट से प्रदेश के हर वर्ग को उम्मीदें हैं। क्योंकि कांग्रेस अपने प्रमुख चुनावी वायदों को पूरा करने के लिए इस बजट में शामिल करेगी। जिसमें सबसे प्रमुख वायदा बेरोजगारी भत्ता देने का है। कांग्रेस सरकार ने अपने इस वायदे की पूर्ति के लिए आगामी वित्त वर्ष 2013-14 के बजट में धन का प्रावधान करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा सामाजिक क्षत्र से जुड़े चुनावी वायदों को भी इसी बजट में पूरा किए जाने की सूचना है। वित्त वर्ष 2012-13 के बजट को देखें तो कुल 20243.92 करोड़ रूपए के बजट में से 31.05 प्रतिशत वेतन, 13.76 प्रतिशत पैंशन, 11.11 प्रतिशत ऋण के ब्याज की अदायगी और 9.57 प्रतिशत ऋृणों के भुगतान के लिए प्रस्तावित किया गया था। जबकि राज्य के विकास कार्यों के लिए केवल 34.51 प्रतिशत राशि ही रखी गई थी। हिमाचल सरकार की आर्थिक सेहत खराब है और ऐसे में वर्तमान कांग्रेस सरकार के लिए वित्त वर्ष 2013-14 का लोकलुभावना बजट पेश करना सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है। लेकिन अपने लंबे प्रशासनिक तजुर्बे के कारण मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह इस चुनौती का सामना करने को तैयार हैं। प्रदेशवासियों को पूरी उम्मीद है कि वह इस बार भी टैक्स रहित बजट पेश कर लोगों को राहत देंगे। वीरभद्र सिंह बतौर वित्त मंत्री 14 मार्च को सदन में वित्त वर्ष 2013-14 के बजट अनुमान रखेंगे। जिस पर 18 मार्च को चर्चा होगी और उसे 29 मार्च को पारित किया गया जाएगा। बजट सत्र के दौरान विधानसभा की कुल 18 बैठकें होंगी। जिसमें कई नए बिल तथा संशोधित बिल भी पेश किए जाएंगे।
बजट सत्र में फोन टेपिंग बनेगा मुख्य मुद्दा
भाजपा के शासनकाल में राज्य सी.आई.डी. और विजिलेंस द्वारा की गई फोन टेपिंग के मुद्दे पर बजट सत्र के दौरान सदन का माहौल गर्माने के आसार हैं। फोन टेपिंग की सच्चाई को खुद भाजपा के ही कई वरिष्ठ विधायक व नेता जानना चाहते हैं। बजट सत्र के दौरान फोन टेपिंग की रिपोर्ट को सदन में रखने के सवाल कई सदस्यों की ओर से लगाए गए हैं। जबकि भाजपा के एक वरिष्ठ विधायक ने तो फोन टेपिंग पर सदन में चर्चा की मांग भी की है। सत्ता परिवर्तन होते ही सी.आई.डी. मुख्यालय से फोन टेपिंग के सारे उपकरण रातो-रात जब्त किए गए थे और उन्हें जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया था। वहां से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सी.आई.डी. और विजिलेंस द्वारा कुल 1371 फोन नंबर टेप किए गए हैं जिनमें से केवल 170 फोन टेप करने की अनुमति गृह सचिव से ली गई थी। हालांकि इस मामले पर एफआईआर करने का निर्णय राज्य मंत्रिमंडल ले चुका है लेकिन मुख्यमंत्री खुद जरूरत पडऩे पर इसकी जांच सी.बी.आई. से करवाने की बात कह चुके हैं। बतौर केंद्रीय मंत्री वीरभद्र सिंह के चंडीगढ़ हिमाचल भवन में ठहरने पर वहां उनके कमरे में बातचीत रिकार्ड करने के लिए उपकरण लगाने की जांच भी शुरू हो गई है। बताया जाता है कि इस कार्य को अंजाम देने वाले सी.आई.डी. के कर्मचारियों ने स्वीकार कर लिया है कि उनसे यह काम करवाया गया था। फोन टेपिंग की जो रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई है उसके मुताबिक भाजपा के शासनकाल में कांग्रेस के बड़े नेताओं, भाजपा के बड़े नेताओं, मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों और पत्रकारों के फोन टेप किए गए हैं। हालांकि इस सारी सूचना को सरकार ने गोपनीय दस्तावेज करार दे दिया है, लेकिन विधानसभा में इस सूचना को सदन में रखने की मांग उठ सकती है। इसके अलावा विपक्षी दल भाजपा ने कांग्रेस सरकार द्वारा योजनाओं के नाम बदलने, कर्मचारियों को दिए गए वित्तीय लाभों को रोकने व उनमें बदलाव करने तथा बाबा रामदेव के ट्रस्ट को दी गई लीज को रद्द करने पर सरकार को घेरने की योजना बनाई है।
महिलाओं के लिए विशेष पुरस्कार शुरू
प्रदेश सरकार ने पाचं महिलाओं को हर वर्ष उनके शिक्षा, स्वास्थ्य, सशक्तिकरण, खेल, संस्कृति और सामाजिक सेवा क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए ‘हिमाचल महिला पुरस्कार’ से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने ं राज्य स्तरीय अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर यह ऐलान किया है। इसके अलावा उन्होंने प्रत्येक जिले में महिला आश्रम स्थापित करने की भी घोषणा की है। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सरकार ने महिला रेपिड पुलिस फोर्स का योजना का शुभारंभ भी किया है। महिला रेपिड फोर्स को पहले चरण में शिमला में स्थापित किया गया है तथा बाद में इसे प्रदेश के सभी जिलों में विस्तार दिया जाएगा। महिला रेपिड फोर्स पुलिस हेल्पलाईन, एसएमएस सेवा के द्वारा प्राप्त शिकायतों पर भी कार्य करेगी तथा महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों पर नजर रखेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here