ट्रेनों में फ्लैक्सी फेयर सिस्टम की समीक्षा करेगी सरकार

0
41

नईदिल्ली। राजधानी, शताब्दी, दुरंतो ट्रेनों में फ्लैक्सी फेयर सिस्टम पर विरोध के बाद दबाव में आई सरकार ने फैसला किया है कि इस फॉर्मूले को अन्य दूसरी ट्रेनों में लागू नहीं किया जाएगा। सूत्रों के अनुसार फैसले पर कुछ समय बाद फिर विचार किया जाएगा। किराए का नया सिस्टम 9 सितंबर से लागू होगा।

तीन ट्रेनों में लागू होने पर भी फिर होगा विचार

रेल मंत्रालय ने तीन ट्रेनों में लागू किए गए फॉर्मूले पर भी फिर विचार करने की बात कही है। रेल मंत्रालय का कहना है कि इन तीन ट्रेनों में ये फॉर्मूला प्रयोग के तौर पर लागू किया गया है। कुछ समय बाद इसकी समीक्षा की जाएगी।

रेल मंत्रालय ने किया बचाव

गुरुवार को पूरे दिन रेल मंत्रालय के अधिकारी इस फैसले का बचाव करते रहे। उनकी यह दलील है कि हर रोजाना दो करोड़ तीस लाख से अधिक लोग रेलवे का इस्तेमाल करते हैं। इन तीन ट्रेनों में बैठने वालों की संख्या एक प्रतिशत से भी कम है। इसलिए फ्लैक्सी किरायों का असर बहुत कम यात्रियों पर पड़ेगा।

रेल मंत्रालय वापस खींच सकती है कदम

हर दिन 12 हजार से अधिक रेलगाड़ियां चलती हैं और फ्लैक्सी किराया केवल 81 गाड़ियों पर 9 सितंबर से लागू होगा। बीजेपी के ही कई नेताओं के गले ये दलीलें नहीं उतरी हैं। उनका कहना है कि इन किरायों से रेलवे को आमदनी तो न के बराबर होगी है, लेकिन इससे सरकार की छवि को धक्का अधिक पहुंचेगा। इससे मध्य वर्ग के नाराज होने का खतरा है। बीजेपी नेताओं की ये बात सरकार तक पहुंचाई गई इसके बाद रेल मंत्रालय ने अपने कदम पीछे खींचने के संकेत दिए हैं।

LEAVE A REPLY