हार्ट ऑफ एशिया कांफ्रेंस में पाकिस्तान का स्वागत करेगा भारत

0
2

नई दिल्ली: भारत ने आज कहा कि वह चार दिसंबर को अमृतसर में आयोजित होने वाले हार्ट ऑफ एशिया (एचआेए) सम्मेलन में पाकिस्तान की भागीदारी का स्वागत करेगा। हालांकि भारत को अभी तक इस सम्मेलन में भाग लेने के बारे में पाकिस्तान से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं मिली है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप से पूछा गया कि क्या भारत-पाक द्विपक्षीय बैठक होगी क्योंकि विदेश मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज सम्मेलन में पाकिस्तान के शामिल होने की घोषणा कर चुके हैं। इस पर स्वरूप ने कहा,‘‘हमें पाकिस्तान से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं मिली है और भागीदारी के स्तर के बारे में भी पुष्टि नहीं हुई है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि एचआेए अफगानिस्तान में शांति, विकास और समृद्धि के लिए आर्थिक सहयोग पर चर्चा करने के लिए मंत्री स्तरीय और बहुस्तरीय सम्मेलन है।

स्वरूप ने कहा,‘‘हम निश्चित रूप से सभी देशों का अमृतसर में स्वागत करेंगे क्योंकि हम पूरी तरह अफगानिस्तान में शांति और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध हैं। एचआेए इस चर्चा विशेष को आगे बढ़ाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण प्रक्रिया है।’’ उन्होंने कहा,‘‘हम पाकिस्तान की भागीदारी का स्वागत करेंगे।’’ स्वरूप के मुताबिक भारत को उम्मीद है कि 40 से अधिक देश और संगठन सम्मेलन में भाग लेंगे। पिछले साल दिसंबर में पाकिस्तान ने एचआेए प्रक्रिया के सम्मेलन की मेजबानी की थी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसमें भाग लिया था जिसके बाद उनकी अजीज के साथ द्विपक्षीय वार्ता हुई थी। दोनों पक्षों ने समग्र द्विपक्षीय वार्ता फिर से शुरू करने की भी घोषणा की थी जो पाकिस्तानी तत्वों द्वारा किए गए पठानकोट हमले समेत आतंकी हमलों के कारण कभी शुरू नहीं हो सकी। भारत ने हाल ही में दक्षेस सम्मेलन का बहिष्कार किया था जो इस्लामाबाद में होना था। उरी हमले के बाद पाकिस्तान से सीमापार आतंकवाद का हवाला देते हुए भारत ने कहा था,‘‘मौजूदा हालात में दक्षेस सम्मेलन में भाग लेने में वह असमर्थ है।’’

LEAVE A REPLY