हिमाचल इलेक्शन 2017: बंपर वोटिंग, कड़ी सुरक्षा के बीच 74 फीसद मतदान

170

शिमला । कड़ी सुरक्षा के बीच आज हिमाचल प्रदेश विधानसभा की सभी 68 सीटों पर शाम पांच बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से 74 फीसद मतदान हुआ। 2012 में भी 74 फीसद के करीब मतदान हुआ था। मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत के अनुसार, अभी कई स्थानों पर मतदान हो रहा है। रिपोर्ट आनी है। नौ बजे तक आंकड़ा बदल सकता है। मतदान प्रतिशत बढ़ सकता है। प्रदेश में इस बार कुल 29.88 लाख मतदाताओं ने मतदान किया। 337 उम्मीदवार ने चुनाव लड़ा।

विश्व के सबसे ऊंचे पोलिंग बूथ हिक्किम में 84 फीसद वोट पड़े। मतदान प्रक्रिया सुबह आठ बजे शुरू हुई और शाम पांच बजे संपन्न हो गई। 337 प्रत्याशियों का भविष्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में कैद हो गया। 18 नवंबर को हिमाचल के भविष्य का फैसला होगा।

प्रदेश में चार बजे तक 64.8 फीसद मतदान हुआ। दो बजे तक 54.9 फीसद मतदान हुआ। 12 बजे तक प्रदेश में कुल 28.6 फीसद मतदान हुआ। जबकि पहले दो घंटे में सुबह दस बजे तक 13.72 फीसद मतदान हुआ। प्रदेश में चंबा में सर्वाधिक 74 फीसद मतदान हुआ है।

हमीरपुर में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल, उनके बेटे व हमीरपुर के भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने वोट डाला। वहीं, वीरभद्र सिंह और उनके पुत्र विक्रमादित्य ने शिमला में एक मतदान केंद्र पर मतदान किया। जबकि वरिष्ठ कांग्रेस नेता विद्या स्टोक्स ने शिमला के बारुबाग में मतदान किया।

देश के प्रथम मतदाता किन्नौर जिला के कल्पा गांव की श्याम सरन नेगी ने रेड कारपेट पर चलकर सशक्त लोकतंत्र के लिए मतदान किया। मतदान से पूर्व उनका भव्य स्वागत किया गया।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने बिलासपुर में परिवार सहित मतदान किया। उनके मुताबिक, मतदान को लेकर भाजपा में भारी जोश है। जनता इस बार कांग्रेस को उखाड़ फेंकेगी, जनता को कुशासन से मुक्ति मिलेगी।

समीरपुर में बर्फी देवी ने अपना वोट डाला। शिमला के रामपुर में लोगों ने अपना वोट डाला। मंडी में पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम ने मतदान किया। धर्मशाला में भाजपा प्रत्याशी किशन कपूर ने मतदान किया। स्वास्थ्य मंत्री क़ौल सिंह ठाकुर ने द्रंग में मतदान किया। कांगड़ा जिला के अति दुर्गम बड़ाभंगाल में 71 में से 70 ने मतदान किया।

हमीरपुर में भाजपा प्रत्याशी नरेन्द्र ठाकुर परिवार सहित मतदान किया। नाचन हलके से भाजपा प्रत्याशी विनोद कुमार ने भी मतदान किया। प्रदेश में कई जगहों पर ईवीएम की खराबी की शिकायतें मिलीं। जिला मंडी में 45 वीवीपैट 18 बैलट यूनिट, 8 कंट्रोल यूनिट खराब हुए हैं।

मनाली विधानसभा क्षेत्र के बाशिंग गांव में दूल्हा और दुल्हन ने शादी से पहले न केवल अपना मतदान किया बल्कि अपने सारे परिवार व रिश्तदारों को मतदान के लिए प्रेरित किया। 101 साल की बुजुर्ग वोटर सरस्वती शर्मा ने मनाली के बरान पोलिंग बूथ पर मताधिकार का प्रयोग किया।

हिमाचल में 50 लाख से अधिक मतदाताओं ने 337 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। पहले यह संख्या 338 थी, लेकिन बड़सर से एक प्रत्याशी की मौत हो चुकी है। प्रदेश में पहली बार सभी सीटों पर वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रोल (वीवीपैट) मशीनों का उपयोग हुआ।