भारत-कनाडा के बीच 6 सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर

74

भारत और कनाडा ने शुक्रवार को खेल, शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी सहित विभिन्‍न क्षेत्रों में 6 सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर किए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बीच नई दिल्‍ली में शिष्‍टमंडल स्‍तर की वार्ता के बाद इन समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दोनों देशों को आतंकवाद और उग्रवाद के ख़िलाफ़ मिलकर लड़ने की ज़रूरत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत, कनाडा के साथ अपनी रणनीतिक साझीदारी बढ़ाने का इच्छुक है. उन्होंने कहा कि भारत और कनाडा एक साथ कई क्षेत्रों में साथ काम कर सकते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि द्विपक्षीय वार्ता के दौरान वैश्विक स्थिति को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया. उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान, भारत प्रशांत क्षेत्र, उत्तर कोरिया और मालदीव जैसे मुद्दों पर दोनों देशों का विचार एक है और दोनों देश शांति के लिए मिलकर काम कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कनाडा एनर्जी सुपर पावर है और हमारी बढ़ती ऊर्जा ज़रूरतों को पूरा कर सकता है. उन्होंने कहा कि भारत ने एनर्जी डायलॉग का विस्तार करने और हमारी ऊर्जा साझीदारी के भविष्य की रूपरेखा तैयार करने का निर्णय किया है.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने राजधानी दिल्ली के हैदराबाद हाउस में संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि कनाडा अपनी अर्थव्यवस्था में विविधता लाने की कोशिश कर रहा है. इसके साथ हम व्यापार को अपनी सीमाओं से बाहर विस्तार करने के लिए नए अवसरों की भी तलाश कर रहे हैं. ऐसे में भारत वाणिज्यिक सहयोग के लिए एक मजबूत साथी और विश्वसनीय दोस्त है.