भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला-2016

0
11

राष्‍ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी 14 नवंबर, 2016 को नई दिल्‍ली के प्रगति मैदान के हमसाधवानी थियेटर में भारत व्‍यापार संवर्द्धन संगठन (आईटीपीओ) के सालाना प्रमुख समारोह, 36वें भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला (14-27 नवंबर, 2016) का उद्घाटन करेंगे। वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण उद्घाटन समारोह की अध्‍यक्षता करेंगी।

इस वर्ष इस मेले में 7000 भागीदार हिस्‍सा ले रहे हैं। दक्षिण कोरिया ‘साझीदार देश’ होगा, जबकि ‘फोकस देश’ बेलारूस है। ‘साझीदार राज्‍य’ मध्‍य प्रदेश एवं झारखंड है, जबकि हरियाणा ‘फोकस राज्‍य’ के रूप में भाग ले रहा है। 27 देशों की 150 से अधिक कंपनियां मेले में भाग ले रही हैं। इनमें ऑस्‍ट्रेलिया, अफगनिस्‍तान, बेलारूस, बहरीन, बांग्‍ला देश, चीन, भूटान, जर्मनी, हांगकांग, ईरान, कुवैत, किरगिस्‍तान, म्‍यांमार, नीदरलैंड, यमन, श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, तिब्‍बत, टर्की, थाईलैंड, संयुक्‍त अरब अमीरात एवं ब्रिटेन शामिल हैं।

घरेलू भागीदारी में सभी राज्‍य तथा केंद्र शासित प्रदेश, केंद्र सरकार के मंत्रालय/विभाग, सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम, निर्यात संवर्द्धन परिषद, कमोडिटी बोर्ड, वित्‍तीय संस्‍थान, कॉरपोरेट एवं गैर सरकारी संगठन आदि शामिल हैं। भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय का कपार्ट पेवेलियन लगभग 800 ग्रामीण कारीगरों एवं शिल्‍पकारों के साथ भागीदारी कर रहा है, जबकि 100 कारीगर राष्‍ट्रीय अल्‍पसंख्‍यक विकास एवं वित्‍त तथा कॉरपोरेशन के माध्‍यम से भाग ले रहे हैं।

इस वर्ष आईआईटीएफ एवं इसकी ‘डिजिटल इंडिया’ थीम भारत के माननीय प्रधानमंत्री के स्‍वप्‍न को साकार करने के प्रति अपनी गहरी प्रतिबद्धता प्रदर्शित करेगी। यह थीम डिजिटल प्राद्योगिकियों तथा ई-शासन के सार्थक संयोजन के माध्‍यम से गरीबी उन्‍मूलन के लिए देश के सतत प्रयासों को रेखांकित करने में विशेष महत्‍व रखती है।

विभिन्‍न क्षेत्रों में निवेश के लिए भारत की वैश्‍विक अपील को विस्‍तारित करते हुए यह मेला भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की बहुकोणीय कार्यनीति भी प्रकट करता है, जो ‘मेक इन इंडिया’ पहल एवं व्‍यापार तथा उद्योग को सामाजिक आर्थिक विकास के एक इंजन के रूप में रूपांतरित करने के सुधारों से प्रेरित हैं। यह मेला सरकार द्वारा आरंभ विभिन्‍न अभियानों, योजनाओं एवं पहलों पर अद्यतन सूचनाओं की एक झलक भी प्रस्‍तुत करता है, जिनमें स्‍वच्‍छ भारत अभियान, स्‍वच्‍छ गंगा अभियान, जन-धन योजना, स्‍किल इंडिया, आधार, 175 सोलर मिशन, किसान फसल बीमा, कायाकल्प और शहरी रूपांतरण के लिए अटल मिशन (अमृत), स्‍टार्ट अप एवं स्‍टैंड अप अभियान, स्‍मार्ट सिटी, मॉडल ग्राम आदि शामिल हैं।

नई पहल:

· पारदर्शी ऑनलाइन स्‍पेस बुकिंग प्रारंभ करना
· सभी दिवसों के लिए ऑनलाइन बुकिंग
· हॉल संख्‍या 7-12ए, 14 एवं 18 तथा 10 प्रमुख स्‍थानों पर वाई-फाई की व्‍यवस्‍था
· एंड्रायड एवं आईओएस प्‍लेटफॉर्मों पर ‘मोबाइल एप’
· मंडी हाउस मेट्रो स्‍टेशन से प्रगति मैदान के बीच नई राउंड रोबिन बस सेवा, आदि।

उपयोगी पहलें:
टिकट :

· मेले के व्‍यवसाय दिवसों (14 से 18 नवंबर, 2016, टिकट: 500 रूपये) के दौरान द्वार संख्‍या 1,2,7 एवं 10 पर बिजनेस विजिटर रजिस्‍ट्रेशन काउंटर स्‍थापित किए जाएंगे। विदेशी व्‍यापार प्रतिनिधिमंडलों एवं आगंतुकों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए द्वार संख्‍या 1, प्रगति मैदान (भैरों मार्ग) पर इंटरनेशनल बिजनेस लाउंज (आईबीएल) संचालनरत रहेगा।
· सीजनल टिकट (14 से 27 नवंबर, 2016) 1800 रूपये का होगा।
· हालांकि मेला सभी आगंतुकों के लिए खुला रहेगा (कार्य दिवसों में वयस्‍कों के लिए 60 रूपये एवं बच्‍चों के लिए 40 रूपये), 14 से 27 नवंबर, 2016 तक शनिवार/रविवार/ छुट्टी के दिन वयस्‍कों के लिए टिकट का मूल्‍य 120 एवं बच्‍चों के लिए 60 रूपये होगा।
· टिकट आईटीपीओ की वेबसाइट के जरिए भी बुक की जा सकती है।
· टिकट आईटीपीओ के काउंटरों (द्वार 1 एवं 2) तथा दिल्‍ली मेट्रो स्‍टेशनों पर उपलब्‍ध होंगे।
प्रवेश:

· वरिष्‍ठ नागरिकों (60 वर्ष एवं अधिक) तथा दिव्‍यांगजनों के लिए वैध आयु/शारीरिक विकलांगता प्रमाण पत्र (जिस पर फोटो लगा हो) के साथ सभी द्वारों से 19 से 27 नवंबर, 2016 तक निशुल्‍क प्रवेश है।
पार्किंग :
· आगंतुकों के लिए किसी भी द्वार के बाहर या प्रगति मैदान के भीतर रूकने या पार्किंग की अनुमति नहीं है।
· पेड पार्किंग की सुविधा दिल्‍ली चिड़ियाघर, भैरों मार्ग, पुराना किला रोड, प्रगति मैदान मेट्रो स्‍टेशन/इंडिया गेट, एवं प्रगति मैदान के निकट अन्‍य पेड पार्किंग स्‍थानों पर उपलब्‍ध रहेगी।

LEAVE A REPLY