अजलान शाह कप टूर्नामेंट के लिए भारतीय हॉकी टीम की घोषणा

164

एशिया कप के बाद मलेशिया के इपोह में होने वाले प्रतिष्ठित 27वें सुल्तान अजलान शाह कप टूर्नामेंट के लिए भारतीय हॉकी टीम की घोषणा कर दी गई है। 3 मार्च से 10 मार्च तक खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम की कप्तानी अनुभवी मिडफील्डर सरदार सिंह को सौंपी गई है।

सरदार ने बतौर फ्रीमैन खेलते हुए भारत को एशिया कप जिताने में अहम रोल निभाया था, लेकिन उन्हें इसके बाद भुवनेश्वर में दिसंबर में हॉकी वर्ल्ड फाइनल और जनवरी में न्यूजीलैंड दौरे के लिए भारत टीम में जगह नहीं दी गई थी। इस टूर्नामेंट में अनुभवी स्ट्राइकर रमणदीप सिंह टीम के उपकप्तान होंगे। इस टूर्नामेंट में दुनिया की नंबर-1 टीम ऑस्ट्रेलिया, दुनिया की दूसरे नंबर की टीम अर्जेंटीना, इंग्लैंड, भारत, आयरलैंड और मेजबान मलयेशिया की टीमें शिरकत करेंगी।

10 मार्च से शुरु होने वाले अज़लन शाह कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। टीम की कमान अनुभवी सरदार सिंह को सौंपी गई है जबकि फारवर्ड रमनदीप सिंह टीम के उप कप्तान होंगे। इस टीम में तीन नए चेहरे शामिल किए गए हैं।मनदीप मोर, सुमित कुमार और शैलानंद लाकड़ा को पहली बार मुख्य राष्ट्रीय टीम में जगह मिली है।

सुमित कुमार अभी सीनियर पुरूष राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा हैं वहीं मनदीप मोर और शैलानंद लाकड़ा को जूनियर पुरूष कोर ग्रुप से टीम में लिया गया है। वे पिछले साल सुल्तान जोहोर कप में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय जूनियर टीम का भी हिस्सा थे।

भारत के मुख्य कोच शूअर्ड मारिन ने कहा, ”न्यूजीलैंड दौरे की तरह, जिसमें चार खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय हाकी में पदार्पण किया, अजलन शाह कप भी इन नये खिलाड़ियों के लिये शीर्ष टीमों के खिलाफ अपना कौशल दिखाने का शानदार मौका होगा। मारिन की अगुवाई में ही भारत ने पुरूषों का एशिया कप जीता और भुवनेश्वर में हाकी विश्व ली फाइनल्स में कांस्य पदक हासिल किया था।

टोक्यो ओलंपिक 2020 की तैयारियों को ध्यान में रखकर इन युवा खिलाड़ियों को टीम में मौका दिया जा रहा है। सरदार को कप्तान नियुक्त करने के फैसले के बारे में मारिन ने कहा, ”सरदार कोर ग्रुप में शामिल प्रमुख खिलाड़ियों में से एक है तथा मनप्रीत सिंह की अनुपस्थिति में उन्हें इस काम के लिये चुना गया है।

सरदार सिंह के साथ मध्यपंक्ति में एसके उथप्पा, सुमित, नीलकांत शर्मा और सिमरनजीत सिंह के साथ अपनी भूमिका निभाएंगे। भारतीय रक्षापंक्ति की जिम्मेदारी वरुण कुमार, अमित रोहिदास, दिपसान टिर्की, सुरेंदर कुमार, मनदीप मोर और नीलम संजीव पर होंगी। सूरज करकेरा और कृष्ण पाठक गोलकीपर होंगे।

अग्रिम पंक्ति में गुरजंत सिंह, रमनदीप सिंह, तलविंदर सिंह, सुमित कुमार और शैलानंद लाकड़ा शामिल हैं। इस दौरे पर जाने वाले खिलाड़ियों के लिये ये बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है क्योंकि इससे उन्हें आस्ट्रेलिया और अर्जेंटीना जैसी टीमों के खिलाफ उच्चस्तर की प्रतिस्पर्धा का अनुभव हासिल करने का मौका मिलेगा। इससे उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना कौशल दिखाने और भविष्य के टूर्नामेंट के लिये टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करने का एक और अवसर मिलेगा।