बालिका दत्तक गृहण के लिये विधिक रूप से मुक्त घोषित करने के संबंध में दावा आमंत्रित

0
36

छिन्दवाड़ा । किशोर न्याय (बालकों की देखरेख तथा संरक्षण) अधिनियम 2000 एवं म.प्र. किशोर न्याय अधिनियम 2003 के प्रावधानों के अंतर्गत एक बालिका को दत्तक गृहण के लिये विधिक रूप से मुक्त घोषित किया जाना है। इस संबंध में बालिका के कोई वैधानिक अभिभावक यदि उसे प्राप्त करना चाहते है तो विज्ञप्ति जारी होने के 30 दिन के अंदर किसी भी सोमवार या मंगलवार को कार्यालयीन समय में सांई मंदिर रोड विवेकानंद कालोनी छिन्दवाड़ा स्थित बाल कल्याण समिति के समक्ष उपस्थित होकर पुष्टिकारक प्रमाण सहित आवेदन कर अपना दावा प्रस्तुत कर सकते है। समयावधि समाप्त होने के बाद बाल कल्याण समिति द्वारा इस बालिका को दत्तक गृहण के लिये विधिक रूप से मुक्त घोषित करने की कार्यवाही की जायेगी तथा इस संबंध में कोई दावा मान्य नही होगा।

जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी ने बताया कि बाल कल्याण समिति छिन्दवाड़ा के आदेशानुसार एक बालिका 18 फरवरी 2016 से शिशुगृह नरसिंहपुर में निवासरत है। शिशुगृह में इस बालिका का नाम करिश्मा है। बालिका की उम्र लगभग 7 वर्ष है और बालिका की लंबाई 113 सेमी., रंग गोरा है व फाईल क्रमांक-41 है। इस बालिका के यदि कोई वैधानिक अभिभावक हो तो वे निर्धारित तिथि और समय तक अपना दावा प्रस्तुत कर सकते है।

LEAVE A REPLY