सावधान! मोबाइल एप से भूलकर भी चैक नहीं करें 500 और 2000 के नोट

0
13

सोशल मीडिया पर यह भी यह अफवाह वायरल हो चुकी है कि 500 और 2000 रूपए के नए नोट असली हैं या नकली, इस बात का पता Modi Keynote एप के जरिए लगाया जा सकता है। अफवाहों में कहा जा रहा है कि अगर नोट पर विडियो प्ले हो तो समझो कि नोट असली है। जबकि हकीकत यह है कि न सिर्फ यह एप बल्कि इस तरह के अन्य सभी एप प्रैंक के लिए हैं। ये एप्स करंसी की वैधता की जांच नहीं कर सकते। इस मोबाइल एप से सिर्फ प्रैंक किया जा सकता है।

इन 4 चरणों से आप भी देख सकते हैं मोदी का वीडियो :

  1. 1.इसके लिए आपको पहले अपने एंड्रायड फोन में ‘मोदी की नोट’ ऐप डाउनलोड करना होगा।
  2. ऐप को इंस्टाल कर ‘मोदी की नोट’ पर क्लिक करें।
  3. 3.2000 का नोट लें और उसे कैमरे से स्कैन करें।
  4. 4.स्कैन होते ही पीएम मोदी का स्पीच आपके फोन की स्क्रीन पर होगा।

आपको बता दें कि अगर आप ये परीक्षण 100 या 500 और 1000 के पुराने नोटों पर करते हैं तो ये एप उन पर काम नहीं करता है। लेकिन जैसे ही कैमरे को 2000 के नोट के ऊपर लेकर जाते हैं तभी नोट पर मोदी की नोट प्रतिबंध की स्पीच शुरू हो जाती है।

Modi Keynote एप को गूगल प्ले स्टोर से हटा दिया गया था, लेकिन अब Modi Keynote (Prank App) के नाम से उपलब्ध है। इस एप को डेवपल करने वाले Barra Skull Studios ने लिस्टिंग में कई जगह पर बताया है कि यह फेक एप है और इसका यूज केवल प्रैंक के लिए है। उसने लोगों से गुजारिश की है इस एप को करंसी चेक करने के लिए इस्तेमाल न करें। इसके डिस्क्लेमर में भी कहा गया है कि यह सिर्फ मनोरंजन के लिए है।

LEAVE A REPLY