मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का SC में हलफनामा- जायज हैं तीन तलाक

0
16

नई दिल्ली। देश के शीर्ष कोर्ट में शुक्रवार को तीन तलाक के मामले में सुनवाई के दौरान अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने अपना हलफनामा दाखिल किया है। हलफनामे में तीन तलाक को जायज ठहराया गया है।

एआईएमपीएलबी ने तीन तलाक के मामले पर अपने हलफनामे में कहा है कि तीन तलाक सही है। सामाजिक सुधार के नाम पर पर्सनल लॉ को बदला नहीं जा सकता।

इस हलफनामे में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तीन तलाक को चुनौती देने को असंवैधानिक बताया। पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा, ‘पर्सनल लॉ को चुनौती नहीं दी जा सकती, क्योंकि ऐसा करना संविधान के खिलाफ होगा।’

उल्लेखनीय है कि तीन तलाक के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर सुनवाई के दौरान कह चुके हैं कि यह कोर्ट तय करेगा कि अदालत किस हद तक मुस्लिम पर्सनल लॉ में दखल दे सकती है, और क्या उसके कुछ प्रावधानों से नागरिकों को संविधान द्वारा मिले मौलिक अधिकारों का उल्लंघन होता है।

कोर्ट ने इस मामले में केंद्र समेत सभी पक्षों को जवाब दाखिल करने को कहा है। कोर्ट ने साथ ही संकेत दिया है कि यदि जरूरी लगा तो इस मामले को बड़ी बेंच को भेजा जा सकता है।

LEAVE A REPLY