देश के सामने कलाकार खटमल के सामान : नाना पाटेकर

0
12

नाना पाटेकर ने पाकिस्तानी कलाकारों के समर्थन में आये भारतीय कलाकारों पर अप्रतक्ष्य रूप से निशाना साधा। उरी हमले के बाद से भारत में रह रहे पाकिस्तानी कलाकारों (Nana Patekar pakistani artist statement) को यहाँ से जाने के लिए कहा गया। म.न.से ने तो इस बात की धमकी भी दे डाली थी कि अगर पाकिस्तानी कलाकार 48 घंटों के अनादर नहीं गए तो उन्हें बेइज्जत करके धक्के मार के निकाला जायेगा। बॉलीवुड में भी इस मामले पर दो गुट बन गए थे। कुछ पाकिस्तानी कलाकारों का बचाव यह कह कर, कर रहे हैं कि कलाकार का कोई देश नहीं होता है और कुछ लोग पहले देश को तवज्जो देने की बात कह रहे हैं।

पाकिस्तानी कलाकारों का सबसे पहले सलमान खान ने समर्थन यह कह कर किया था कि पाकिस्तानी कलाकार देश की सरकार से इजाज़त लेकर काम करने के लिए भारत में रुके हुए हैं। कला और कलाकार का कोई देश नहीं होता है। सलमान के बाद पाकिस्तानी कलाकरों का समर्थन बॉलीवुड के उभरते हुए मशहूर अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दकी ने की। उनका कहना भी यही था कि कलाकर किसी देश का नहीं होता है और उसके साथ ऐसा व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए। नाना पाटेकर इन कलाकारों से बिलकुल हटकर बात कह रहे हैं। जब उनसे पाकिस्तानी कलाकारों को भारत ने निकालने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, पाकिस्तानी कलाकार बाद में पहले मेरा देश। देश के सामने कलाकारों की कोई औकात नहीं है। देश के सामने एक कलाकार खटमल के सामान होता है। देश के अलावा मैं किसी को जानता नहीं और ना ही मैं जानना चाहूँगा।

बॉलीवुड क्या कहता है मुझे उससे क्या लेना देना मैं क्या कह रहा हूँ मुझे उससे मतलब है। बॉलीवुड बटा हुआ है तो बटा रहे, मेरा इस मामले पर साफ़ साफ़ कहना है कि मैं सेना में था। मैंने वहाँ ढाई साल बिताया है, मैं जानता हूँ कि हमारे बड़े हीरो कौन हैं। हमारे जवानों से बड़ा हीरो कोई और नहीं हो सकता है। हम तो उनके सामने बहुत ही मामूली और नकली लोग हैं, तो हम जो कुछ बोलते हैं उनके ऊपर ध्यान मत दो।

LEAVE A REPLY