3 दिन के जापान दौरे पर PM मोदी, आज हो सकती है न्यूक्लियर डील

0
7

तोक्यो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जापानी निवेश आमंत्रित करते हुए कहा कि भारत को वित्तीय संसाधनों की काफी जरूरत है और उनकी सरकार देश को विश्व की ‘सबसे मुक्त’ अर्थव्यवस्था बनाने के लिए सुधारों को आगे बढ़ा रही है। ‘इंडिया-जापान बिजनेस लीडर्स फोरम’ में कारोबारी नेताओं को संबोधित करते हुए मोदी ने जीएसटी मुद्दे पर हुई प्रगति का जिक्र किया और भारत में कारोबार को आसान बनाने के लिए नीतियों एवं निवेश नियमों में किए गए अन्य सुधारों पर भी बात की।

नई दिशा में बढ़ रहा भारत
उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देने के लिए और स्थायी एवं पारदर्शी नियमन प्रणालियों के माध्यम से सकारात्मक माहौल बनाने के वास्ते सुधार नीतियों को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, ‘भारत आर्थिक सुधारों की एक नई दिशा में बढ़ रहा है। मेरा संकल्प इसे विश्व की सबसे मुक्त अर्थव्यवस्था बनाने का है।’

दोनों देशों में होंगे ये अहम समझौते
सूत्रों ने बताया कि शिखर स्तर की वार्ता के बाद दोनों पक्षों के बीच 12 समझौतो पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इनमें कौशल विकास, सांस्कृतिक आदान प्रदान और आधारभूत संरचना जैसे क्षेत्र शामिल हैं। सूत्रों ने आज बताया कि असैन्य परमाणु करार पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद के बीच दोनों पक्ष इस विषय पर वार्ता को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हैं।

पीएम को जापान यात्रा से बड़ी उम्मीदें
प्रधानमंत्री मोदी का यहां और कोबे में जापानी कारोबारियों को संबोधित करने का कार्यक्रम है। अपनी यात्रा शुरू करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे 11 नवंबर को टोक्यो में आबे से मुलाकात में द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों की समीक्षा करने को आशान्वित हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं भारत और जापान के शीर्ष कारोबारी नेताओं के साथ विस्तृत चर्चा करूंगा और हम कारोबार तथा निवेश संबंधों को और मजबूत बनाने के रास्तों पर विचार करेंगे।’

LEAVE A REPLY