नेहरू, बोस और पटेल के फांसी पर झूलने के बयान पर जावड़ेकर की सफाई- कुछ कन्फ्यूजन हुआ है

0
53

नई दिल्ली। देश की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्रियों के बेतुके बयानों में मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का भी नाम शामिल हो गया। एचआरडी मिनिस्टर जावड़ेकर ने तिरंगा यात्रा के दौरान एक विवादास्पद बयान दिया है। मध्य प्रदेश के छिंदवाडा में यात्रा के दौरान जावड़ेकर ने कहा कि भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु के साथ ही जवाहर लाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस और सरदार पटेल भी आजादी के लिए फांसी पर झूले थे। जावड़ेकर तिरंगा यात्रा में देश की आजादी के दौरान शहीदों पर बोल रहे थे। उन्होंने ऐसे शहीदों के नाम लिए जिन्हें आजादी की लड़ाई के दौरान फांसी हुई थी। इसी क्रम में जावड़ेकर नेहरू और पटेल के साथ ही सुभाष चंद्र बोस का नाम भी ले बैठे।

जावड़ेकर ने ट्विटर पर दी सफाई

जावड़ेकर ने इस बयान को लेकर ट्विटर पर सफाई दी है, उन्होंने चार ट्वीट में लिखा है, ‘मैंने 1857 के बाद के सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी। मैंने गांधी, नेहरू, बोस का नाम लिया, यह लाइन यही खत्म थी। अगली लाइन में मैंने उनको गिनाया, जिन्हें फांसी दी गई, जिन्हें जेल जाना पड़ा और जिन पर अंग्रेजी हुकूमत ने जुल्म ढाए। मेरे दिमाग में इसको लेकर कोई उलझन नहीं थी, वहां सुनने वालों को कोई गलतफहमी हुई है।’

इससे पहले छिंदवाड़ा पहुंचे प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि वे छिंदवाड़ा जिले के विकास के लिए सबको साथ लेकर चलेंगे। इस सभा में कांग्रेस विधायकों की कुर्सी जहां खाली नजर आईं, वहीं सांसद कमलनाथ के नाम की टेबल नहीं लगाई गई थी।

LEAVE A REPLY