सिंगर का आरोप- मैं काम मांगने जाती थी, वो साथ सोना चाहते थे

0
4

बी-टाउन की मशहूर एक्‍ट्रेस हेमा सरदेसाई ने इंडियन म्‍यूजिक इंडस्‍ट्री को लेकर एक बड़ा खुलास किया है। एक इंटरव्‍यू के दौरान हेमा ने कहा कि करियर के शुरुआती दिनों में वह जहां भी काम मांगने जाती थीं, लोग बुरी नजर से ही देखते थे। यही नहीं, कई लोगों ने उन्‍हें काम के बदले साथ सोने के लिए भी कहा था।

यकीनन बॉलीवुड में एक्‍टर्स को लेकर कास्‍टिंग काउच की बात नई नहीं है, लेकिन संगीत की दुनिया को लेकर यह खुलासा चौंकाने वाला है। सरस्‍वती की साधना का बखान करने वाली इस दुनिया का सच हेमा ने सामने रखा है।

‘यहां कोई भला इंसान नहीं’

‘मैं कुड़ी अंजानी हूं’ फेम हेमा सरदेसाई ‘चक दे इंडिया’ से लेकर ‘बागबान’ जैसी फिल्‍मों के लिए गीत गा चुकी हैं। हेमा ने इंटरव्‍यू में कहा, ‘बॉलीवुड इंडस्‍ट्री बुरे लोगों से भरी पड़ी है। मुझे यहां कोई भी भला इंसान नजर नहीं आता। मैं जिस भी स्‍टूडियो में गाना गाने के लिए गई, लोगों ने मुझे गंदी नजर से देखा। यहां तक कि कुछ लोगों ने मुझे रात को साथ सोने के लिए भी कहा।’

‘संगीत की बेइज्‍जती नहीं होने दूंगी’

‘राजस्‍थान पत्रिका’ की खबर के मुताबिक हेमा ने आगे कहा, ‘मैं पहले बहुत परेशान हुई, लेकिन फिर खुद को संभाला। मैं संगीत की पूजा करती हूं ओर कभी इसकी बेइज्‍जती नहीं होने दूंगी।’

आठ साल की उम्र से कर रही हैं सिंगिंग

बता दें कि हेमा जब आठ साल की थीं, तभी से वह सिंगिंग कर रही हैं। 1989 में ‘गूंज’ फिल्‍म से उन्‍होंने इंडस्‍ट्री में कदम रखा। जूही चावला और कुमार गौरव की इस फिल्‍म में उन्‍होंने ‘समां ये सुहाना…’ और ‘जवानी के लिद हैं…’ सॉन्‍ग को आवाज दी।

हेमा सरदेसाई ने अब तक 60 फिल्‍मों के लिए गाने गाए हैं। ‘जोश’ फिल्‍म में शाहरुख खान के साथ उन्‍होंने ‘अपुन बोला…’ सॉन्‍ग भी गाया।

LEAVE A REPLY