SP, RTO खुद बताएं क्यों नहीं रुकी ऑटो चालकों की मनमानी: हाईकोर्ट

47
जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने 29 जुलाई को पेश होने दिए आदेश,क्षमता से अधिक सवारियां।
जबलपुर। शहर में ऑटो चालकों की मनमानी पर रोक क्यों नहीं लग पा रही है। क्षमता से अधिक सवारियां बैठाई जा रही हैं। पटिए हटाने की बात बस हुई, लेकिन उन्हें हटाया नहीं जा सका। कितनों पर कार्रवाई की और कितनों के परमिट रद्द किए गए हैं। अब इस सब की जानकारी आरटीआे और एसपी खुद हाईकोर्ट के सामने पेश होकर देंगे। गुरुवार को हाईकोर्ट में जस्टिस राजेन्द्र मेनन की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने एड. सतीश वर्मा द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए दोनों अधिकारियों को 29 जुलाई को हाजिर होने के आदेश दिए हैं। याचिकाकर्ता ने कोर्ट को बताया कि 28 अप्रैल को सुनवाई के दौरान एसपी व आरटीओ को आदेश जारी किए गए थे। जिसमें ऑटो से पटिए हटाने, वर्दी पहनने, मीटर लगाने सहित परिवहन नियमों का पालन कराने की बात कही गई थी। इसके बावजूद शहर में ऑटो चालकों की मनमानी पर आज तक कोई रोक नहीं लग पाई है। ओवरलोडिंग के कारण लोगों को खासी परेशानी हो रही है। इनकी धमाचौकड़ी से पूरे शहर की यातायात व्यवस्था चरमराई है। उल्लेखनीय है कि कोर्ट का आदेश मिलने के बाद 29 अप्रैल को अधिकारियों ने कुछ वाहनों की चैकिंग व चालानी कार्रवाई की, बाद में इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। कोर्ट ने इसी बात पर नाराजगी जताते हुए आरटीओ व एसपी को खुद हाजिर होकर जवाब देने कहा है। याचिकाकर्ता एड. सतीश वर्मा ने खुद अपनी पैरवी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here