‘आनंद भवन’ में रात ठहरकर राहुल ने ताजा कीं पुरानी यादें

0
72

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के चुनावी अभियान में लगे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान यात्रा के दौरान इलाहाबाद में अपने विरासती भवन में रात ठहरकर पुरानी यादें ताजा कीं। इलाहबाद की पहचान नेहरू-गांधी खानदान से है और उस पहचान को और ज्यादा लोकप्रिय करने में आनंद भवन का अहम योगदान रहा। आनंद भवन ने नेहरू खानदान की विरासत को समेट रखा है। गांधी परिवार के चौथी पीढ़ी के राहुल गांधी ने 14 सितंबर की रात अपने इसी पुश्तैनी मकान में गुजारी।

देवरिया से दिल्ली तक की किसान यात्रा के दौरान जब राहुल इलाहबाद पंहुचे तो उन्होंने एक रात आनंद भवन में गुजारी जो कभी कांग्रेस की राजनीति का केंद्र हुआ करती थी। राहुल गांधी, आनंद भवन के स्वराज भवन में रात भर रुके। बुधवार देर रात राहुल गांधी यहां पंहुचे थे, गुरुवार सुबह इसी घर से निकलकर पहले चंद्रशेखर आज़ाद पार्क गए वहां चंद्रशेखर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और फिर वापस आनंद भवन आ गए।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को जिंदा करने की कोशिश में राहुल गांधी हर उस प्रतीक को जोड़ते दिख रहे हैं जो कभी कांग्रेसियों की पहचान हुआ करती थी। फिलहाल आनंद भवन संग्रहालय में तब्दील किया जा चुका है, जहां नेहरू से जुड़ी यादें संग्रहीत हैं।