मायावती, नसीमुद्दीन पर लगे POSCO एक्ट: दयाशंकर की पत्नी

32
लखनऊ। उत्तर
प्रदेश भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा है कि
वह बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती और नसीमुद्दीन सिद्दकी के खिलाफ पास्को
एक्ट के तहत कार्रवाई चाहती हैं। उन्होंने कहा है कि मैं अपने पति दयाशंकर और
मायावती-नसीमुद्दीन के लिए समान कार्रवाई चाहती हूं।
गुरुवार को
बीएसपी ने उत्तरप्रदेश में दयाशंकर सिंह के बयान पर भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन किया
था और उनकी गिरफ्तारी की मांग की थी। बीएसपी नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने भी
मायावती पर दिए गए बयान के जवाब में दयाशंकर सिंह की बेटी और पत्नी पर आपत्तिजनक
बयान दे दिया।
दयाशकंर सिंह
की पत्नी ने जिस तरह से नसीमुद्दीन सिद्दीकी के आपत्तिजनक बयान पर आक्रामक रुख
अख्तियार कर उनके खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है।
इससे भाजपा खुश है। सूत्रों की माने तो पार्टी अगले साल होने विधानसभा चुनाव में
उनकी पत्नी को टिकट देने पर विचार कर सकती है।
राज्यपाल से
करेंगे नसीमुद्दीन की शिकायत
यूपी भाजपा के
प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मोर्या के नेतृत्व में भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी
राज्यपाल राम नाइक से मुलाकात कर नसीमुद्दीन सिद्दकी के खिलाफ ज्ञापन देंगे और
उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी करेंगे।
क्या है
पास्को कानून:
बच्चों के साथ
आए दिन यौन अपराधों के मामलों की बढ़ती संख्या देखकर सरकार ने वर्ष 2012 में एक
विशेष कानून बनाया था। जो बच्चों को छेड़खानी, बलात्कार और कुकर्म जैसे मामलों से सुरक्षा प्रदान करता है।
उस कानून का नाम पास्को एक्ट।
पास्को एक्ट
और सजा

पास्को शब्द
अंग्रेजी से आता है। इसका पूर्णकालिक मतलब होता है प्रोटेक्शन आफ चिल्ड्रेन फार्म
सेक्सुअल अफेंसेस एक्ट 2012 यानी लैंगिक उत्पीड़न से बच्चों के संरक्षण का अधिनियम
2012 इस एक्ट के तहत नाबालिग बच्चों के साथ होने वाले यौन अपराध और छेड़छाड़ के
मामलों में कार्रवाई की जाती है। यह धारा बच्चों को सेक्सुअल हैरेसमेंट,
सेक्सुअल असॉल्ट और पोर्नोग्राफी जैसे गंभीर अपराधों से
सुरक्षा प्रदान करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here