आंगनबाड़ी नियुक्तियों पर हाईकोर्ट का नोटिस

जबलपुर@ हाईकोर्ट ने आंगनबाड़ी की मनमानी नियुक्तियों के सिलसिले में राज्य शासन, कलेक्टर सिवनी और परियोजना अधिकारी बरघाट सिवनी सहित अन्य को नोटिस जारी कर जवाब-तलब कर लिया। इसके लिए चार सप्ताह का समय दिया गया है।न्यायमूर्ति सुबोध अभ्यंकर की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता सिवनी निवासी रजनी भलावी, शशिकला पारधी और अनीता चौधरी की ओर से अधिवक्ता आनंदकृष्ण त्रिवेदी ने पक्ष रखा।

इन्होंने दलील दी कि जिनके आवेदन प्राप्त हुए थे, वे आवेदिकाएं अर्हता पूर्ति नहीं करतीं। इसके बावजूद उन्हें नियुक्त कर लिया गया। जबकि याचिकाकर्ताओं सहित 14 सर्वथा योग्य आवेदिकाओं की उपेक्षा की गई। इससे साफ है कि मनमानी हुई है। दरअसल, इसी रवैये के खिलाफ न्यायहित में हाईकोर्ट की शरण ली गई। ऐसा इसलिए भी क्योंकि इसी तरह के मामले में पूर्व में उर्मिला चौकसे सहित 13 आवेदिकाओं ने हाईकोर्ट की शरण ली थी, जिस पर नोटिस जारी हुए थे। साथ ही परियोजना अधिकारी बरघाट सिवनी को जांच के निर्देश भी दिए गए थे। जांच में नियुक्तियां गलत पाई गई थीं। ऐसे में मौजूदा मामला की जांच अनिवार्य है।