प्रतापगढ़ : 50 हजार का इनामी बदमाश पुलिस की गिरफ्त में

 प्रतापगढ़ :  जगेसरगंज के बैंक डकैती में फरार चल रहे 50 हजार के इनामी शातिर बदमाश तौसीफ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से लूट का 18 हजार रुपये बरामद हुआ है। अब पुलिस को गैंग के सरगना एक लाख का इनामी हब्बू सरोज अन्य पांच बदमाशों की तलाश है।अंतू थाना क्षेत्र के जगेसरगंज बाजार स्थित बड़ौदा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक में 14 सितंबर को दोपहर पौने बारह बजे सात नकाबपोश बदमाशों ने धावा बोलकर 5.96 लाख रुपये लूट लिए थे। दस दिन पहले मुंबई में अभिषेक सरोज की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने जगेसरगंज बैंक डकैती और कोहड़ौर के व्यापारियों भाइयों की हत्या का राजफाश कर दिया था। पुलिस ने गैंग का सरगना हब्बू उर्फ अंकित सरोज निवासी मदुरा रानीगंज को बताया था। इसी गैंग ने सुल्तानपुर जिले के लंभुआ में 11 सितंबर को बड़ौदा ग्रामीण बैंक से साढ़े आठ लाख रुपये लूटे थे।इस बीच मुखबिर की सूचना सोमवार को देर रात 12.45 बजे कंधई एसओ संजय शर्मा, अंतू के एसएसआइ राज वकील मिश्र ने मंदाह गेट के पास से 50 हजार के इनामी बदमाश तौसीफ पुत्र मंगरू उर्फ गुलहसन निवासी बहरूपुर, कंधई को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से लूट का 18650 रुपये बरामद हुआ।पुलिस लाइन के सई कांप्लेक्स में मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि तौसीफ ने कबूल किया है कि 14 अगस्त को उसने व अंकुर सरोज उर्फ हब्बू, सद्दाम, अभिषेक, नान्हू और राका सफेद व नीले रंग की अपाचे गाड़ी के जगेसरगंज स्थित बैंक पहुंचे थे। दो लोग बाहर आने जाने वालों पर नजर रखे थे। पांच लोगों ने कैशियर को मारपीट कर छह लाख रुपये लूट लिए थे। बताया कि तौसीफ, अंकुर उर्फ हब्बू, सद्दाम पुत्र फारुक निवासी बासुपुर, मोहम्मद नान्हू पुत्र आसिफ अली निवासी जियोतिया, कंधई, राका उर्फ समीर शेख पुत्र रहीमुद्दीन निवासी करनैलगंज, गोंडा व अभिषेक कुमार सरोज पुत्र नेपाल निवासी कोहड़ौर 10 सितंबर को रात साढ़े आठ बजे कोनी स्थित अदिति पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भराने गए थे। पैसा मांगने पर सेल्समैन को सद्दाम ने धमकी दी थी। अंकुर उर्फ हब्बू, नान्हू व राका ने सेल्समैन को पिस्टल सटाकर डेढ़ रुपये लूटकर कोनी की तरफ भागने लगे। वहां मौजूद दो लोगों ने ईंट फेंककर मारा तो हब्बू सरोज ने उन पर फायर कर दिया था और सभी लोग भाग निकले थे। तौसीफ की गिरफ्तारी पर पुलिस टीम को दस हजार रुपये पुरस्कार दिया गया है।   [ब्यूरो रिपोर्ट प्रतापगढ़]