प्राइमरी स्कूल के बच्चों को दोपहर के भोजन में सड़े गले राशन का मिड डे मील

फतेहपुर :फतेहपुर प्रदेश सरकार शिक्षा को बढ़ावा दे रही है । और विद्यार्थियों के लिए हर भरपूर प्रयास कर रही है। उनको पाठ- पठन में किसी प्रकार की दिक्कत ना हो। चाहे बात वह किताबों की या बैग या जूते मौजों की आए दिन सुर्ख़ियों में प्राइमरी स्कूल के बच्चों के मामले आते रहते हैं कब खत्म होगा बच्चों के साथ खिलवाड़ का खेल। जो समाज की धरोहर है आने वाले कल का भारत है। उनके साथ ही खेल  खेला जाता है। कहां कमी होती है कौन है इसका जिम्मेवार। कहीं बच्चों को नमक रोटी दी जाती है। तो कहीं उनको मिड डे मील में कीड़े परोसे जाते हैं तो कहीं जली हुई रोटी दी जाती है। तो कहीं गरम गरम रोटी से हाथ जला दिया जाता है। कहीं झाड़ू लगवाई जाती है। ऐसी कई सारी घटनाएं आए दिन सुर्खियों में रहती है। ऐसी ही एक घटना मिर्जापुर के प्राइमरी स्कूल में बच्चों को दोपहर के खाने में नमक रोटी दिए जाने का मामला ठंडा नहीं हुआ है। कि फतेहपुर जिले में  सड़े-गले राशन से स्कूल में मिड डे मील बनाने का मामला सामने आया है। बच्चों के जीवन के साथ हो रहे इस खिलवाड़ की पोल तब खुलकर सामने आई जब प्रदेश के कारागार मंत्री जयकुमार जैकी देवमई के कंधरपुर गांव में प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान कारागार मंत्री ने जब विद्यालय के रसोईघर का हाल देखा तो उनकी आंखें खुली की खुली रह गईं। रसोईघर में रखे जिस राशन से मिड डे मील बनाया जा रहा था उसमें कीड़े पड़े हुए थे। आंटे से लेकर चावल तक मे कीड़ों की भरमार थी। विद्यालय के प्रधानाध्यापक की जानकारी में होने के बावजूद इसी राशन से दोपहर का भोजन बनाकर बच्चो को खिलाया जा रहा था। हैरानी की बात यह थी कि इस क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी कुछ देर पहले ही इस विद्यालय का निरीक्षण करके वापस लौटे थे और उन्होंने विद्यालय की रसोई का हाल देखना भी मुनासिब नही समझा। मिड डे मील के राशन में कीड़े मिलने के बाद कारागार मंत्री ने विद्यालय के हेडमास्टर को जमकर फटकार लगाई और स्कूल से ही जिलाधिकारी को फोन कर पूरे मामले की जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ कारवाई करने का निर्देश दिया। इस बारे में जिलाधिकारी संजीव कुमार का कहना है कि पूरे मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि कारागार मंत्री के निरीक्षण के पहले यह खामी किसी को नजर क्यों नहीं आई।[ब्यूरो रिपोर्ट]